यूपी विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन शुरू

चुनाव आयोग के अनुसार, उप्र विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 11 जिलों के 58 विधानसभा क्षेत्रों में 10 फरवरी को मतदान होगा और नामांकन की आखिरी तारीख 21 जनवरी है जबकि 24 जनवरी को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 27 जनवरी को नामांकन वापसी की आखिरी तारीख है।

 
s

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में शामली जिले के कैराना विधानसभा क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के विधायक नाहिद हसन शुक्रवार को नामांकन पत्र दाखिल करने वाले पहले उम्मीदवार बन गए। नाहिद हसन अकेले उम्मीदवार हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने के पहले दिन अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। नाहिद हसन कैराना निर्वाचन क्षेत्र से दो बार के सपा विधायक हैं। 

चुनाव आयोग के अनुसार, उप्र विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 11 जिलों के 58 विधानसभा क्षेत्रों में 10 फरवरी को मतदान होगा और नामांकन की आखिरी तारीख 21 जनवरी है जबकि 24 जनवरी को नामांकन पत्रों की जांच होगी और 27 जनवरी को नामांकन वापसी की आखिरी तारीख है।

मतों की गिनती 10 मार्च को होगी।  इस चरण में जिन जिलों में मतदान हो रहा है उनमें शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा और आगरा है। पहले चरण में महिला, पुरुष और थर्ड जेंडर समेत कुल 2.27 करोड़ से अधिक मतदाता हैं जो 10,766 मतदान केंद्रों में अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के सामने इस अंचल में अपना पिछला प्रदर्शन दोहराने की बड़ी चुनौती है। पिछले विधानसभा चुनाव में पहले चरण की इन 58 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने 53, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने दो-दो सीटें जीती जबकि राष्ट्रीय लोकदल को एक सीट मिली थी।

 पहले चरण का यह इलाका तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलित किसानों के प्रभाव वाला इलाका माना जाता है। यहां चुनाव में किसानों के अलावा कैराना से एक समुदाय का कथित पलायन, गन्ना और भगवान कृष्ण के मुद्दे पर जोर आजमाइश के आसार नजर आ रहे हैं।