भाजपा में शामिल हुए पूर्व IPS असीम अरुण

इस दौरान असीम अरुण ने कहा, भाजपा ने मुझे और अधिक सामाजिक कार्य करने के लिए राजनीति चुनने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा, ऐसे कई काम हैं जो मैं अपने कार्यकाल के दौरान नहीं कर सका, इसलिए राजनीति में आने का फैसला किया। उन्होंने कहा, मैं पीएम मोदी से भी प्रभावित हूं, जिन्होंने विकास की नई राह दी है।

 
gf

कानपुर के पूर्व कमिश्नर असीम अरुण ने पिछले दिनों नौकरी से वीआरएस लेकर शनिवार को भाजपा में शामिल हुए। लखनऊ में भाजपा दफ्तर पहुंचकर उन्होंने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। कार्यकर्ताओं ने भी असीम अरुण का भाजपा में आने पर जोरदार स्वागत किया।

इस दौरान असीम अरुण ने कहा, भाजपा ने मुझे और अधिक सामाजिक कार्य करने के लिए राजनीति चुनने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा, ऐसे कई काम हैं जो मैं अपने कार्यकाल के दौरान नहीं कर सका, इसलिए राजनीति में आने का फैसला किया। उन्होंने कहा, मैं पीएम मोदी से भी प्रभावित हूं, जिन्होंने विकास की नई राह दी है।

 गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव की अधिसूचना से पहले कानपुर के पहले पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने नौकरी छोड़ दी थी। उन्होंने आठ दिसंबर को वीआरएस लेने का फैसला लिया था। चर्चा है कि असीम अरुण भाजपा के टिकट पर कन्नौज से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। असीम अरुण मूलरूप से कन्नौज के ही रहने वाले हैं।

उनके पिता स्व. श्रीराम अरुण उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक रहे हैं। यूपी आईपीएस अफसरों में असीम अरुण की तेजतर्रार अफसरों में गिनती होती है। वह एटीएस के आईजी रह चुके हैं। लखनऊ में आतंकी सैफुल्लाह के एनकाउंटर में अहम भूमिका रही। कई आतंकी साजिश का खुलासा किया। एडीजी पद पर प्रमोट होने के बाद कानपुर के पहले पुलिस कमिश्नर बनाए गए थे।