रामपुर से चुनाव लड़ेंगे आकाश सक्सेना

उन्हें सलाखों के पीछे भिजवाने में भाजपा युवा नेता आकाश सक्सेना का बड़ा हाथ रहा है। दो पैन कार्ड, दो पासपोर्ट, दो जन्म प्रमाण पत्र समेत कई मामलों में आकाश सक्सेना सीधे-सीधे मुकदमें में वादी हैं तो कई में कोर्ट में आजम और उनके परिवार पर चार्जफ्रेम कराने में मजबूत गवाही दे चुके हैं। जौहर विवि से जमीनें छिनवाने में भी आकाश का ही हाथ रहा है, उन्होंने न सिर्फ शिकायतें कीं बल्कि, राजस्व परिषद तक केस के मुख्य निगरानीकर्ता रहे। आकाश सक्सेना छात्र राजनीति में सक्रिय रहे।

 
df

भाजपा नेता आकाश सक्सेना को टिकट यूं ही नहीं मिल गया। सियासी गलियारों में चर्चा-ए-आम है कि आजम से अदावत ने आकाश को टिकट दिलवा दिया। दरअसल, आकाश सक्सेना चमरौआ विधानसभा सीट से चुनाव की तैयारी में बीते कई माह से लगे थे और ऐन वक्त का उनका टिकट आजम की परंपरागत सीट शहर विधानसभा से हो गया। सूबे की सियासत में मुस्लिम राजनीति का बड़ा चेहरा माने जाने वाले सपा नेता मोहम्मद आजम खां आजकल सीतापुर की जेल में कैद हैं।

उन्हें सलाखों के पीछे भिजवाने में भाजपा युवा नेता आकाश सक्सेना का बड़ा हाथ रहा है। दो पैन कार्ड, दो पासपोर्ट, दो जन्म प्रमाण पत्र समेत कई मामलों में आकाश सक्सेना सीधे-सीधे मुकदमें में वादी हैं तो कई में कोर्ट में आजम और उनके परिवार पर चार्जफ्रेम कराने में मजबूत गवाही दे चुके हैं। जौहर विवि से जमीनें छिनवाने में भी आकाश का ही हाथ रहा है, उन्होंने न सिर्फ शिकायतें कीं बल्कि, राजस्व परिषद तक केस के मुख्य निगरानीकर्ता रहे। आकाश सक्सेना छात्र राजनीति में सक्रिय रहे।

बाद में कारोबार से जुड़े और फिर उद्योगपतियों के नेता बने। आईआईए के लंबे समय चेयरमैन रहे। बाद में उन्हें भाजपा ने पश्चिमी यूपी के लघु उद्योग प्रकोष्ठ का संयोजक बनाया। आकाश सक्सेना पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के बड़े बेटे हैं।

पूर्व में शिव बहादुर सक्सेना चमरौआ विस सीट से चुनाव की तैयारी कर रहे थे और आनन फानन में उनका टिकट रामपुर शहर विस सीट से हो गया था, ठीक वैसा ही आकाश के साथ भी हुआ। पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना बेटे आकाश सक्सेना का भाजपा से टिकट होने पर गदगद हैं। टिकट होने के बाद वह बेटे आकाश के साथ भमरौआ शिव मंदिर पहुंचे और जलाभिषेक किया।