देखते ही देखते आग ने गुज्जरों के कुल्लों को अपनी चपेट में ले लिया

 
देखते ही देखते आग ने गुज्जरों के कुल्लों को अपनी चपेट में ले लिया

सब सेक्टर रामगढ़ के गांव करालियां तथा चक-दौलत के मध्य पड़ते क्षेत्र में गेहूं की फसल को लगी आग गुज्जरों के कुल्लों तक जा पहुंची। देखते ही देखते आग ने गुज्जरों के कुल्लों को अपनी चपेट में ले लिया। इस भीषण अग्नि हादसे में गुज्जरों के 15 कुल्ले जलकर राख हो गए।

गनीमत यह रही कि आग में कोई जानी नुकसान नही हुआ, लेकिन कुल्लों के भीतर रखी नगदी, जेवरात, दस्तावेज व गृहस्थी उपयोग की सभी चीजें नष्ट हो गईं। आग की घटना पर काबू पाने के लिए तीन दमकल गाडियां मौके पर पहुंची, लेकिन कुल्लों को लगी आग को समय पर बुझाने में नाकाम साबित हुईं। यह घटना रविवार दोपहर की है जब सारवा गांव के निवासी अशोक कुमार पुत्र पुखु राम की खेतों में गेहूं की फसल में संदिग्ध परस्थितियों में आग लग गई।चार कनाल खेतों में खडी गेहूं की फसल को लगी आग बारूद की तरह आगे बढ़ती गई।

वहीं हल्की हवाओं के चलने से आग ने कंबाइन मशीनों से काटी गई फसल गठ्ठियों को भी अपनी चपेट में ले लिया। आग आगे बढ़ते हुए करालियां, चक-दौलत व सारवा की तरफ फैल गई। आग के आगे जो भी आया वह पलक झपकते ही नष्ट हो गया। इस भीषण अग्नि हादसे में एक रिहायशी कुल्ला झुंबियां चक-दौलत में जलकर राख हुआ, जबकि तेरहं कुल्ले करालियां गुज्जरों की बस्ती में राख हुए। आग की इस बडी घटना की खबर पुलिस को मिलते ही राहत एवं बचाव कार्यों चलाया गया।

वहीं सांबा फायर ब्रिगेड़ स्टेशन के अलावा बिश्नाह, बडी-ब्राहम्णां, अरनिया को भी हादसा स्थल पर पहुंचने की अपील की गई। जब तक दूर दराज फायर ब्रिगेड़ स्टेशनों की तीन दमकल गाडियां हादसा स्थल पर पहुंची, तब तक आग ने सबकुछ बर्बाद कर दिया।पुलिस ने मामला दर्ज कर अपनी जांच आरंभ कर दी है और राजस्व विभागीय अधिकारी भी पेश आए नुक्सान का आकलन करने में जुट गए।