उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 : 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली ये हैं घोषणा पत्र के मुद्दे
 

 
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 : 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली ये हैं घोषणा पत्र के मुद्दे

नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए कांग्रेस (Congress) भी तैयारियों की रफ्तार बढ़ा रही है. इस बार कांग्रेस के घोषणा पत्र में युवाओं और बुजुर्गों के लिए भत्ता, किसान कर्ज माफी, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए कोचिंग सेंटर्स और मुफ्त बिजली जैसे मुद्दे शामिल हो सकते हैं. फिलहाल, 2022 के अपने घोषणा पत्र को तैयार करने के लिए राज्य भर में पार्टी अभियान चला रही थी. साथ ही पार्टी ने सोशल मीडिया और दूसरे डिजिटल तरीकों की भी मदद ली है, और राज्य के छात्र, वकील संगठनों और बुद्धिजीवियों से भी लिखित में सलाह मांगी है.

मामले के जानकार कांग्रेस के अंदरूनी सूत्र बताते हैं, ‘राज्य के जाने माने बुद्धिजीवियों और आम जनता से फीडबैक लेने का कार्य 6 महीनों से जारी है. बेरोजगार युवाओं की आवाज उठा रहे कुछ संगठनों से भी पार्टी ने संपर्क किया है. इसके अलावा हर जिले में वकीलों और किसानों के समूहों से भी पार्टी ने चर्चा की है.’ उन्होंने खुलासा किया, ‘राज्य का विकास, किसानों के कर्ज की संभावित कर्जमाफी, रोजगार, महिलाओं पर अत्याचार और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना मुख्य मुद्दे होंगे.’

सूत्र ने कहा, ‘घोषणा पत्र समिति के प्रमुख सलमान खुर्शीद हर जिले में कम से कम दो दिनों के लिए जा रहे हैं और लोगों से मिल रहे हैं. 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने और अगले 200 यूनिट तक दरें 50 फीसदी कम किए जाने पर भी काम किया जा रहा है.’ उन्होंने कांग्रेस के घोषणापत्र से जुड़े अन्य मुद्दों की भी जानकारी दी. सूत्र ने कहा, ‘हम प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए ग्रामीण स्तर पर कोचिंग केंद्र बनाने पर ध्यान लगा रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ’60 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों के भविष्य की सुरक्षा के लिए भत्ता देने पर भी काम किया जा रहा है. हमने युवाओं के लिए भी भत्ता देने का सुझाव दिया है. इसे लेकर चर्चाएं जारी हैं. कांग्रेस दिसंबर तक अपने घोषणा पत्र का ऐलान करने की कोशिश करेगी, क्योंकि हम असल मुद्दों पर ध्यान वापस लाना चाहते हैं. बीजेपी की तरह नहीं, जो हर बार सांप्रदायिक और धार्मिक कार्ड खेलती है.’

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख अजय कुमार लल्लू ने कहा कि घोषणा पत्र पर काम जारी है और यह अंतिम दौर में है. न्यूज18 से बातचीत में UPCC प्रमुख ने कहा, ‘किए जाने वाले वादों के संभव होने और लागू करने के साथ डेटा कलेक्शन का काम किया जा रहा है. घोषणा पत्र का अंतिम मसौदा जल्द ही तैयार हो जाएगा. हम ऐसी कोई घोषणा नहीं करना चाहते, जो असल में मुमकिन न हो.’

यूपी कांग्रेस ने अपने मसौदे को अंतिम रूप देने के लिए जनता तक पहुंचने का फैसला किया है. चुनावी घोषणा पत्र को तैयार करने की रणनीति पर पहले ही काम कर लिया गया था. संभावना है कि कानून व्यवस्था, किसान मुद्दे, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और बदतर होते आर्थिक हालात घोषणापत्र मुख्य प्वाइंट हो सकते हैं. कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी घोषणा पत्र समिति के साथ अहम बैठक की थी. इसमें समिति के प्रमुख सलमान खुर्शीद, राज्यसभा सांसद पीएल पूनिया, सुप्रिया श्रीनेत, विवेक बंसल, अमिताभ दुबे के साथ प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और आराधाना मिश्रा भी मौजूद थे.

इसके साथ ही 50 उम्मीदवारों को टिकट देने की खबरों और अफवाहों पर पार्टी के प्रदेश प्रमुख ने कहा, ‘ये सभी अफवाहें हैं, ऐसा अभी तक कुछ नहीं हुआ है. उम्मीदवारों की घोषणा जल्द होगी.’