मुंबई आतंकी हमले की 13वीं सालगिरह पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले- राष्ट्र हमेशा उनका आभारी...!

13 वर्ष पूर्व देश ने खौफ का वो मंजर देखा था, जो शायद भारत के इतिहास में पहले कभी देखने को नहीं मिला। पाकिस्तान से आए 10 आतंकियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को खून से नहला दिया था, हमेशा चकाचौंध में रहने वाली मायानगरी, इस दिन सिसक रही थी।
 
मुंबई आतंकी हमले की 13वीं सालगिरह पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले- राष्ट्र हमेशा उनका आभारी...!

नई दिल्ली: आज से 13 वर्ष पूर्व देश ने खौफ का वो मंजर देखा था, जो शायद भारत के इतिहास में पहले कभी देखने को नहीं मिला। पाकिस्तान से आए 10 आतंकियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को खून से नहला दिया था, हमेशा चकाचौंध में रहने वाली मायानगरी, इस दिन सिसक रही थी। पाकिस्तान स्थित और समर्थित आतंकी संगठन लश्कर ए तय्यबा के 10 आतंकवादी 26 नवंबर 2008 को समुद्र के रास्ते मायानगरी में घुस आए थे और 18 सुरक्षाकर्मियों सहित 166 लोगों की हत्या कर दी थी।

इस घटना को आज भी जब देश याद करता है तो सबकी रूह कांप जाती है। वही आज पूरा देश शहीदों एवं हमले के पीड़ितों को याद कर रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा है, ’26/11 मुंबई आतंकी हमले के जवानों एवं पीड़ितों को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि। कर्तव्य के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले सुरक्षाबलों की बहादुरी तथा बलिदान के लिए राष्ट्र हमेशा उनका आभारी रहेगा।’

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है, ‘मुंबई पर 26 नवंबर को हुए आतंकी हमले की 13वीं सालगिरह पर, हम उन बेकसूर व्यक्तियों को याद कर रहे हैं, जिन्हें हमने खो दिया है। उन हमलों में जान गंवाने वाले सभी लोगों को मेरी श्रद्धांजलि। हमारे सुरक्षा बलों ने 26/11 के हमलों के चलते अनुकरणीय साहस का परिचय दिया है। मैं उनकी बहादुरी और बलिदान को सलाम करता हूं।’ विदेश मंत्री एस जयशंकर ने हमले के वक़्त की फोटो साझा करते हुए अपने ट्वीट के कैप्शन में लिखा है, ‘कभी नहीं भूलेंगे।’


गृहमंत्री अमित शाह ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘मुंबई 26/11 आतंकी हमलों में जान गंवाने वालों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि देता हूं तथा उन सभी सुरक्षाकर्मियों के साहस को सलाम करता हूं, जिन्होंने कायरतापूर्ण हमलों में आतंकवादियों का डटकर सामना किया। पूरे देश को आपकी वीरता पर गर्व रहेगा। कृतज्ञ राष्ट्र सदैव आपके बलिदान का ऋणी रहेगा।’