अपनी ही सरकार के खिलाफ नवजोत सिंह सिद्धू करेंगे भूख हड़ताल, सामने आयी हैरान करने वाली वजह !

नवजोत सिंह सिद्धू का अपनी ही पार्टी की सरकार को धमकाना नया नहीं है। कैप्टन अमरिंदर सिंह से काफी समय तक उनकी तकरार चली और आखिर में अमरिंदर ने पार्टी छोड़ दी। कैप्टन के बाद मुख्यमंत्री बनाए गए चन्नी से भी सिद्धू की नहीं बन रही है। कुछ समय पहले सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया था।
 
अपनी ही सरकार के खिलाफ नवजोत सिंह सिद्धू करेंगे भूख हड़ताल, सामने आयी हैरान करने वाली वजह !

अमृतसर: पंजाब में सीएम बदल गया, मगर प्रदेश कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू का अपनी सरकार के प्रति रवैया नहीं बदला। कैप्टन अमरिंदर सिंह से बगावत करने वाले सिद्धू ने अब चन्नी सरकार को भी धमकाना शुरू कर दिया है। दरअसल, नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि अगर चन्नी सरकार ने ड्रग्स और गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी मामले में रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की तो वह भूख हड़ताल करेंगे।

उल्लेखनीय है कि नवजोत सिंह सिद्धू का अपनी ही पार्टी की सरकार को धमकाना नया नहीं है। कैप्टन अमरिंदर सिंह से काफी समय तक उनकी तकरार चली और आखिर में अमरिंदर ने पार्टी छोड़ दी। कैप्टन के बाद मुख्यमंत्री बनाए गए चन्नी से भी सिद्धू की नहीं बन रही है। कुछ समय पहले सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, बाद में सिद्धू ने पलटी मारते हुए अपना इस्तीफा भी वापस ले लिया। हाल ही में जब चन्नी उन्हें लेकर करतारपुर साहिब गुरुद्वारा नहीं गए तो एक बार फिर दोनों के बीच तनाव सामने आ गया।

बता दें कि, बेअदबी और ड्रग्स मामले को लेकर पंजाब AG एपीएस देओल और सिद्धू में ठन गई थी. सिद्धू के दबाव के कारण ही सीएम चन्नी को पंजाब के एडवोकेट जनरल को पद से हटाना पड़ा. सिद्धू ने कहा था कि, 'हमारी कांग्रेस पार्टी बेअदबी के मामलों में इंसाफ दिलाने के वादे के साथ सत्ता में आई थी, जिसमें आप (AG एपीएस देओल)  मुख्य साजिशकर्ताओं/अभियुक्तों की तरफ से उच्च न्यायालय में पेश हुए और हमारी सरकार के खिलाफ गंभीर इल्जाम लगाए.'