रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले, 50 हजार नई नौकरियां पैदा होंगी देश में 83 तेजस विमान की मैन्युफैक्चरिंग से

बेंगलुरु। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज कर्नाटक के दौरे पर हैं। पूर्व सैनिक दिवस (Veterans Day) को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे सेना के जवानों ने जिस शौर्य और पराक्रम का परिचय दिया है, वह अभूतपूर्व है। हम भारत के सम्मान पर किसी भी तरह आँच नहीं आने देंगे। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी में एक कहावत है कि ‘Once a soldier, Always a Soldier’. यह ‘वेटरेंस डे’ हमें याद दिलाता है उन Sacrifices की, जो आपने और आपके परिवार ने आपके द्वारा की गई देश की सेवा के दौरान दी है। इस दौरान उन्होंने कहा कि अब सरकार ने देश में रक्षा सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए 83 तेजस विमान की मैन्युफैक्चरिंग का ऑर्डर HAL को दिया गया है। इस निर्णय से देश में करीब 50,000 नए रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

पूर्व सैनिक दिवस के एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने कहा कि मेरा हमेशा प्रयास रहता है कि देश के पूर्व सैनिकों के लिए मैं हमेशा कुछ न कुछ करूं। हालांकि, आप लोगों के द्वारा किए गए सेवाओं की कोई कीमत नहीं लगाई जा सकती है, पर सरकार का हमेशा प्रयास रहता है कि वह आप के और आपके परिवार के सम्मान और देखभाल में जितना हो सके वह करे।

पूर्व में एलएसी में हुई खूनी झड़प को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत और चीन के बीच गतिरोध के दौरान हमारे सैनिकों ने अनुकरणीय शौर्य और धैर्य का प्रदर्शन किया था। चीन के खिलाफ सेनिकों की इस कार्रवाई से हर भारतीय गर्व महसूस करेगा।

वन रैंक वन पेंशन योजना को पीएम मोदी ने किया लागू

राजनाथ सिंह ने कहा कि पीएम मोदी ने भारतीय सेना और सैनिकों के लिए दशकों से लम्बित पड़ी वन रैंक वन पेंशन योजना को अपने पहले कार्यकाल के दौरान लागू किया। पिछले साल लालकिले से CDS के गठन की घोषणा की गई। इस निर्णय से सुरक्षा बलों के बीच संयुत बढ़ी है।

पूर्व सैनिकों के बीच उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश रहती है, कि हम आपकी जिम्मेदारियों का बोझ कुछ कम कर सकें। हमारी सरकार के रहते कुछ ग्रांट्स दिए गए हैं जैसे बच्चों की शिक्षा और विवाह अनुदान, मेडिकल ग्रांट आदि उसी दिशा में लिए गए कुछ कदम हैं।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.