ऐसे करें कम पुदीना की मदद से बढ़ते हुए वज़न को!

नई दिल्ली। पुदीना हमारे स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभदायक होता है। आयुर्वेद में भी पुदीना एक महत्वपूर्ण सामग्री में से एक है। यहां तक कि लंबे समय से इसका उपयोग औषधीय लाभ के लिए किया जा रहा है। पुदीना का सेवन हम इसकी चटनी बनाकर, रायते या फिर गार्निश के तौर पर कर सकते हैं। पुदीना भारतीय किचन में भले ही रोज़ाना इस्तेमाल किए जाने वाली चीज़ हो, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये बढ़ते वज़न को भी कम कर सकता है।

आज हम बात करेंगे कि किस तरह पुदीना का इस्तेमाल कर आप अतिरिक्त वज़न को कम कर सकते हैं।

फाइबर से भरपूर

पुदीना के पत्ते सिर्फ कैलोरी में ही कम नहीं होते, बल्कि इसमें ढेर सारा फाइबर भी होता है। जो लोग वज़न कम करना चाह रहे हैं उनके लिए पुदीने के बारे में जानना बेहद ज़रूरी है।

मेटाबॉलिज़्म को मिलता है बढ़ावा

पुदीना आपके भोजन में आवश्यक पोषक तत्वों के अवशोषण में सहायक होता है, जिससे मेटाबॉलिज़्म को बढ़ावा मिलता है। आपका मेटाबॉलिज़्म जितना अच्छा होगा उतना ही आपके लिए अतिरिक्त वसा को घटाना आसान होगा।

पाचन एंज़ाइम में मदद मिलती है

पुदीना का सेवन करने से आपकी पाचन शक्ति अच्छी होती है। जिसमें कुछ फैट्स आपको एनर्जी दिलाने में मदद कर सकते हैं। जिससे वज़न कम होता है।

सूजन को कम करता है

पुदीना सूजन यानि इंफ्लामेशन को भी कम करता है, जो कई बीमारियों के प्रमुख कारणों में से एक है जैसे कि हृदय की समस्या, कैंसर, हाइपरटेंशन और मधुमेह। इससे आपका वज़न भी बढ़ सकता है और फिर उसे कम करने आसान नहीं होता।

ब्लोटिंग की समस्या

अगर आपको गैस या ब्लोटिंग की समस्या है, तो पुदीना खाने से आपके पेट को ठंडक मिलेगी और गैस से छुटकारा मिलेगा। पुदीना के पत्तों में मेंथॉल होता जिससे आपका खाना अच्छे से हज़म होता है और वज़न घटाने में सहायता मिलती है।

अन्य स्वास्थ्य लाभ

वज़न घटाने के अलावा, पुदीना पाचनशक्ति, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, उबकाई को रोकता है, कई अन्य बीमारियों जैसे मधुमेह, सांस की समस्या, डिप्रेशन या थकान से लड़ने में मदद करता है।

खाने में पुदीना का कैसे करे इस्तेमाल?

पुदीना के इस्तेामल का सबसे अच्छा तरीका है, उसे पानी में डालकर रोज़ पिएं। एक ग्लास पानी में, 5-6 पुदीना के पत्ते डालें और इसे फ्रिज में रात भर ठंडा होने दें। अगले दिन पुदीना वाले पानी को पी लें। इसमें आप नींबू या खीरे भी डाल सकते हैं। पुदीने की चाय, पुदीना का रायता और पुदीने का रस रोज़ाना लिया जा सकता है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.