किंग्स इलेवन पंजाब राहुल-कुंबले की जोड़ी से नई शुरुआत के लिए उत्सुक

कोलकाता| कप्तान लोकेश राहुल और मुख्य कोच अनिल कुंबले की नई जोड़ी के साथ किंग्स इलेवन पंजाब की टीम शनिवार से शुरू होने जा रही इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में अपना जादू बिखेर सकती है। पंजाब की टीम लीग के इतिहास में अब तक केवल दो बार ही प्लेआफ में पहुंची है। सीमित ओवरों के क्रिकेट में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए हाल में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले राहुल को सीजन से पहले पंजाब का कप्तान नियुक्त किया गया था। उनके अलावा पूर्व भारतीय कप्तान और दिग्गज आफ स्पिनर अनिल कुंबले को मुख्य कोच निुयक्त किया गया था।

राहुल ने हाल में कहा था, “मैंने हमेशा कप्तानी की भूमिका का लुत्फ उठाया है और मैंने हमेशा अपने कंधे पर इस जिम्मेदारी को उठाया है। मैं इसे खुले दिमाग से करने जा रहा हूं। मैं प्रत्येक मैच से प्रत्येक दिन इससे सीखूंगा।”

राहुल और कुंबले दोनों बेंगलुरू से आते हैं और ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि इससे टीम को फायदा मिलनी चाहिए।

कुंबले ने कहा था, “राहुल और अन्य खिलाड़ियों को पहले से ही जानने से स्पष्ट रूप से एक दूसरे को अच्छी तरह से समझने में मदद मिलती है। मैंने राहुल को बहुत कम उम्र से एक खिलाड़ी के रूप में देखा है। यह उनका पहला प्रमुख (कप्तानी कार्यकाल) होगा। वह एक जूनियर स्तर पर कप्तानी करते हैं, लेकिन एक उच्च स्तरीय मैच में नहीं। अब तक वह शानदार रहे हैं।”

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम इस बार कागजों पर बहुत मजबूत दिख रही है। टीम के साथ ग्लैन मैक्सवेल, क्रिस गेल और डेविड वार्नर जैसे विस्फोटक बल्लेबाज हैं, जोकि पहले भी टीम के साथ थे। गेल और मैक्सवेल के पास तूफानी बल्लेबाजी की कमी नहीं होनी चाहिए। कुंबले ने कहा है कि वह चाहते हैं कि ‘यूनिवर्स बॉस’ नेतृत्व समूह के हिस्से के रूप में अधिक सक्रिय हो।

टॉप आर्डर में मयंक अग्रवाल को टीम को मजबूती देना चाहिए और उनका साथ देने के लिए मनदीप सिंह और करुण नायर होंगे। भारतीय टीम के लिए राहुल का फॉर्म शानदार रहा है और पंजाब को उम्मीद होगी कि राहुल अपने इस फॉर्म को यहां भी बरकरार रखें।

गेंदबाजी में अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी की अगुवाई करेंगे। शमी का साथ देने के लिए क्रिस वोक्स, शेल्डन कॉटरेल, जेम्स नीशम, इशान पोरेल, दर्शन नालकांडे और अर्शदीप सिंह होंगे।

स्पिन विभाग में अफगानिस्तान के लेग स्पिनर मुजीब उर रहमान यूएई में टीम को टॉप क्वालीटी स्पिन विकल्प देंगे। उनके अलाव मुर्गन अश्विन, कृष्णप्पा गौतम और रवि बिश्नोई भी टीम को मजबूती देंगे।

किंग्स इलेवन पंजाब की टीम 2008 और 2014 में प्लेआफ में पहुंची थी। यूएई में टीम का शानदार रिकॉर्ड रहा है और उसने 2014 के संस्करण में पांच मैचों में से एक भी मैच नहीं हारा था।

ताकत:

टीम की किस्मत राहुल और कुंबले की साझेदारी पर बहुत अधिक निर्भर करेगी और वे किस तरह टीम का नेतृत्व करेंगे यह देखने वाली बात होगी। राहुल के असाधारण रूप और शांत स्वभाव से उन्हें एक कप्तान और बल्लेबाज के रूप में मदद करनी चाहिए और इसके बदले में टीम को फायदा होगा।

कमजोरी :

किंग्स इलेवन के अंदर हमेशा आईपीएल जीतने की क्षमता रही है, लेकिन वास्तव में टीम कभी भी एक एकजुट होकर नहीं खेली है। किसी भी कीमत पर दबाव खिलाड़ियों पर बहुत अधिक भारी पड़ सकता है और टीम के प्रदर्शन में एक भूमिका निभा सकता है।

टीम : लोकेश राहुल (कप्तान और विकेटकीपर) क्रिस गेल, मयंक अग्रवाल, करुण नायर, सरफराज खान, मनदीप सिंह, शेल्डन कॉटरेल, इशान पोरेल, रवि बिश्नोई, मोहम्मद शमी, मुजीब उर रहमान, अर्शदीप सिंह, हार्डस विलोजेन, एम अश्विन, हरप्रीत बराड़, दर्शन नलकांडे, ग्लेन मैक्सवेल, जेम्स नीशम, क्रिस जॉर्डन, कृष्णप्पा गौतम, दीपक हुड्डा, तजिंदर सिंह ढिल्लों, निकोलस पूरन (विकेटकीपर), प्रभसिमरन सिंह (विकेटकीपर)।

सपोर्ट स्टाफ : अनिल कुंबले (मुख्य कोच), एंडी फ्लावर (सहायक कोच), वसीम जाफर (बल्लेबाजी कोच), जोंटी रोड्स (फील्डिंग कोच), चार्ल लैंगवेल्ड्ट (गेंदबाजी कोच), एंड्रयू लेक्सस (फिजियोथेरेपिस्ट), एड्रियन ले रूक्स (ताकत और कंडीशनिंग कोच)।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.