आईपीएल-13 : केकेआर को बनाए रखनी होगी तीसरे खिताब के लिए निरंतरता

कोलकाता| गौतम गंभीर की कप्तानी में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने दो बार आईपीएल का खिताब जीता था लेकिन गंभीर के जाने के बाद टीम कहीं न कहीं लीडरशिप में कमी के करण वो प्रदर्शन नहीं कर पाई जिसके लिए वो जानी जाती थी। कोलकाता को हालांकि इस 13वें सीजन में कोई खिताब के दावेदार मानी जाने वाली टीमों की सूची में से बाहर नहीं कर सकता। उसका एक कारण है टीम में टी-20 प्रारूप के बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ-साथ संतुलन। टीम की कप्तानी इस सीजन भी दिनेश कार्तिक करेंगे।

पिछले सीजन बतौर कप्तान कार्तिक सफल नहीं रहे थे और कुछ विवादों ने भी टीम के भीतर तूल पकड़ा था। इस बार उनका साथ देने के लिए होंगे इंग्लैंड को विश्व कप दिलाने वाले कप्तान इयोन मोर्गन। मोर्गन टीम के लीडरशिप ग्रुप को मजबूती तो देंगे ही, साथ ही वह जिस तरह के बल्लेबाज हैं उससे टीम को और ज्यादा फायदा होगा।

टीम कोशिश करेगी की इस सीजन उसके प्रदर्शन में निरंतरता हो जो खिताब जीतने के लिए सबसे अहम है और इसके लिए जरूरी है कि टीम में एकजुटता और भरोसा है जिसको सुनिश्चित करना टीम प्रबंधन, सपोर्ट स्टाफ का काम है।

टीम पिछले सीजन टीम आंद्रे रसेल पर ज्यादा निर्भर थी। उन्होंने 13 मैचों में 510 रन बनाए थे वो भी निचले क्रम में आकर। रसेल को टीम का साथ नहीं मिला था। इस बार मोर्गन के आने से टीम के मध्यक्रम को मजबूती मिली है। यहां कप्तान के अलावा नीतीश राणा भी हैं जो तेजी से रन बनाने और विकेट पर टिकने की काबिलियत रखते हैं।

सभी की नजरें इस बार भारत के भविष्य के तौर पर देखे जा रहे शुभमन गिल पर होंगी जो बतौर सलामी बल्लेबाजी उतरेंगे। एक सवाल का जवाब जरूर कोलकाता को ढूंढ़ना होगा और वो यह है कि गिल के साथ पारी की शुरुआत कौन करेगा। पिछले सीजनों में देखा गया है कि कई बार सुनील नरेन पारी की शुरुआत करने आते थे। इस बार कोलकाता ने इंग्लैंड के टॉम बेंटन को भी अपने साथ जोड़ा है और वह गिल के साथ सलामी जोड़ी में देखे जा सकते हैं। इन दोनों के अलावा राहुल त्रिपाठी भी एक विकल्प हैं।

जहां तक गेंदबाजी की बात है तो इसे मजबूत करने के लिए टीम ने 15.5 करोड़ रुपये में आस्ट्रेलिया के पैट कमिंस को अपने साथ जोड़ा है। कमिंस का साथ देने के लिए टीम के पास अच्छे विकल्प हैं। यहां युवा शिवम मावी, कमलेश नागरकोटी, संदीप वॉरियर, प्रसिद्ध कृष्णा, लॉकी फग्र्यूसन उनका अच्छा साथ दे सकते हैं।

कोलकाता की ताकत उसकी स्पिन रही है और सुनील के अलावा चाइनामैन कुलदीप यादव टीम के लिए हमेशा सफल साबित हुए हैं।

टीम : दिनेश कार्तिक (कप्तान/विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, अली खान, कमलेश नागरकोटी, कुलदीप यादव, लॉकी फग्र्यूसन, नीतीश राणा, प्रसिद्ध कृष्णा, रिंकू सिंह, संदीप वॉरियर, शिवम मावी, शुभमन गिल, सिद्धेश लाड, सुनील नरेन, पैट कमिसं, इयोन मोर्गन, वरुण चक्रवर्ती, टॉम बेंटन, राहुल त्रिपाठी, क्रिस ग्रीन, एम, सिद्धेश, निखिल नाइक (विकेटकीपर)

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.