राजस्थान सरकार का खजाना भरने में अव्वल आबकारी विभाग…

जयपुर । गहलोत सरकार ने कोरोना खर्च के चलते सरकारी खर्चों में कटौती का ऐलान कर दिया है, लेकिन आबकारी विभाग ऐसा है, जो लक्ष्य से अधिक राजस्व राजस्थान सरकार को दे रहा है। आबकारी विभाग का वित्तीय वर्ष 20-2021 में 12500 करोड़ का राजस्व अर्जित करने का लक्ष्य है। लेकिन जब से लॉकडाउन के बाद अ शराब की दुकानें खुली है, तभी से आबकारी विभाग लगातार राजस्व दे रहा है।
सबसे पहले बात करें अजमेर संभाग की तो, इस संभाग का चालू वित्तीय वर्ष 20-21 का लक्ष्य 1535 करोड़ है, जिसमें अब तक इस संभाग के अजमेर, भीलवाड़ा, नागौर और टोंक जिले से अब तक 440.41 करोड का राजस्व अर्जित हो चुका है।
भरतपुर संभाग की बात करें तो इस संभाग का लक्ष्य 720 करोड़ रुपये है। इस संभाग के भरतपुर, धौलपुर, करौली और सवाईमाधोपुर से अप्रैल, मई, जून, जुलाई, अगस्त से अब तक 176.57 करोड़ का राजस्व अर्जित किया जा चुका है। वहीं बीकानेर संभाग का लक्ष्य 1350 करोड़ रुपये है, इस संभाग के बीकानेर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर से अब तक 397.94 करोड़ का राजस्व सरकार के खाते में आ चुका है।

बात करें जयपुर संभाग की तो इस संभाग का लक्ष्य 3910 करोड रुपये है। जिसमें से जयपुर शहर, जयपुर ग्रामीण, झुंझुंनूं, सीकर, अलवर, दौसा से अब तक 1183.71 करोड़ रुपये राजस्व अर्जित किया जा चुका है।
वहीं अब बात करें, जोधपुर संभाग की तो, यहां का लक्ष्य 2260 करोड़ रुपये है। इस संभाग के बाड़मेर, जैसलमेर, जालोर, जोधपुर, पाली और सिरोही जिलों से अब तक 595.18 करोड़ का राजस्व अर्जित किया जा चुका है।

कोटा संभाग की बात करें तो यहां का लक्ष्य 965 करोड़ रुपये राजस्व अर्जित करना का है। इस संभाग के बारां, बूंदी, झालावाड़ और कोटा जिले से अब तक 259.72 करोड़ का राजस्व अर्जित किया जा चुका है। सबसे आखिर में बात करें,उदयपुर संभाग की तो, इस संभाग का लक्ष्य 1760 करोड़ रुपये है, जिसमें से बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद, और उदयपुर जिले से अब तक 413.67 करोड़ का राजस्व अर्जित किया जा चुका है। अब तक राजस्व विभाग लक्ष्य का 3467.20 करोड़ रुपये का राजस्व अप्रैल, मई, जून,जुलाई, अगस्त तक अर्जित कर चुका है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.