” इंग्लैंड के दर्शकों ने पहली बार मुझे गाली नहीं दी”- ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज

साउथैंप्टन। ऑस्ट्रेलियाई टीम के तूफानी सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने एक बड़ा खुलासा किया है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही तीन मैचों की टी20 सीरीज के पहले मुकाबले में डेविड वार्नर को काफी अजीब लगा, क्योंकि स्टेडियम में दर्शक नहीं थे। इसी बीच डेविड वार्नर ने ये दावा किया है कि उनको पहली बार इंग्लैंड के दर्शकों से गाली नहीं मिलीं। ऐसा इसलिए था, क्योंकि खाली स्टेडियम में मुकाबले खेले जा रहे हैं।

दरअसल, साल 2018 में डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ को बॉल टैंपरिंग का दोषी पाया गया था। इसके बाद इन दोनों खिलाड़ियों पर बैन लग गया था और जब इन्होंने वापसी की तो इनको जबरदस्त आलोचना और कमेंट्स का सामना करना पड़ा। खासकर वर्ल्ड कप 2019 के इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया मैच में डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ को निशाना बनाया गया था और उनको चीटर…चीटर बुलाया गया था। इंग्लैंड के क्राउड ने एशेज सीरीज के दौरान भी हूटिंग की थी।

हालांकि, शुक्रवार को साउथैंप्टन के एजेस बाउल स्टेडियम में खेले गए पहले टी20 मैच में ऐसा कुछ भी नहीं देखने को मिला, जिसको लेकर डेविड वार्नर ने कहा है कि पहली बार उनके खिलाफ हूटिंग नहीं हुई, क्योंक स्टेडियम में फैंस मौजूद नहीं थे। पहले टी20 मैच में फिफ्टी ठोकने वाले डेविड वार्नर ने मैच के बाद कहा, “यह पहली बार था जब मैं यहां (इंग्लैंड) खेल रहा था और मुझे गालियां नहीं मिलीं। यह काफी अच्छा था!”

दर्शकों को लेकर इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच प्रतिद्वंदिता को लेकर वार्नर ने आगे कहा, “दर्शकों के नजरिए से, नहीं। यह थोड़ा विचित्र था। तुम उठो और जा रहे हो (भीड़ से)। इसलिए हमें घर और बाहर खेलना बहुत पसंद है। वहां घर में लाभ मिलता है और यहां भी, लेकिन हम हमेशा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए तैयार हैं। हम वापस खेलने के लिए आभारी हैं और इसका सबसे अधिक लाभ उठाना चाहते हैं।”

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.