सीमा के पास से चीनी सैनिकों ने 5 भारतीयों को किया अगवा- कांग्रेस नेता का दावा

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद के बीच अरुणाचल प्रदेश से एक बड़ी खबर आ रही है। अरुणाचल प्रदेश में बॉर्डर के पास से पांच लोगों को चीनी सेना के अगवा करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस बात का दावा अरुणाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक निनॉन्ग एरिंग(Ninong ering) ने किया है। अरुणाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक निनॉन्ग एरिंग(Ninong ering) ने एक ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। अरुणाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक निनॉन्ग एरिंग ने दावा किया है कि चीनी की सेना ने बॉर्डर के पास से 5 भारतीयों का अपहरण कर लिया है।

अरुणाचल प्रदेश से कांग्रेस विधायक निनॉन्ग एरिंग(Ninong ering) ने दावा किया है कि अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले के रहने वाले पांच लोगों का कथित तौर पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी(China People Liberation Army) ने अपहरण कर लिया है। उन्होंने ट्वीट में बताया कि कुछ महीने पहले भी इसी तरह की घटना हुआ थी। चीन की सेना को जवाब दिया जाना चाहिए।

कांग्रेस विधायक निनॉन्ग एरिंग ने समाचार एजेंसी से कहा है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी((पीएलए) ने अरुणाचल प्रदेश में ऊपरी सुबनसिरी जिले के नाचो के 5 लड़कों का अपहरण कर लिया है। उन्होंने कहा कि यह ऐसे समय में हुआ है, जब राजनाथ सिंह रूस और चीन के रक्षा मंत्री से मिल रहे हैं। अरुणाचल प्रदेश में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी(पीएलए) की इस कार्रवाई ने बहुत गलत संदेश भेजा है।

बता दें कि पिछले कई महीनों से भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव बना हुआ है। चीन ने कई बार भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश भी की है। हाल ही में चीन ने पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे के कुछ भारतीय क्षेत्रों पर कब्जा करने कू कोशिश की, जिसे भारतीय सैनिकों ने नाकाम कर दिया। भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा को लेकर फिलहाल तनाव जारी है। भारत ने भारत ने अतिरिक्त बल और हथियारों को सीमा के पास इलाकों में भेज दिया है।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.