आज से उत्तर प्रदेश में जेईई मेन्स परीक्षा, सभी मंडल में होंगे पेपर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने आज (एक सितंबर) से शुरू हो रही जेईई मेन्स परीक्षा की तैयारी पूरी कर ली है। कोरोना वायरस संक्रमण के इस दौर में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी जेईई मेन्स परीक्षा का आयोजन कर रही है। छह दिनी इस परीक्षा के आयोजन में इनको उत्तर प्रदेश सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है। प्रदेश के हर केंद्र में कोविड प्रोटोकॉल का पूरा इंतजाम है। राजधानी लखनऊ के साथ अन्य महानगर में जिला प्रशासन परीक्षा आयोजन को लेकर मुस्तैद है।

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन 2020 इंजीनियरिंग की कॉमन प्रवेश परीक्षा है। यह देश भर में एक से छह सितंबर के बीच में होगी। कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट के तहत होने वाली प्रवेश परीक्षा सुबह साढ़े नौ से 12 और दोपहर तीन से छह बजे की दो पालियों में होगी। परीक्षार्थियों को मास्क पहनकर आना होगा। कोविड-19 के तहत केंद्र के अंदर परीक्षार्थ‍ियों को सैनिटाइजर और पानी की बोतल ले जाने की अनुमति होगी। केंद्र पर परीक्षार्थियों को केंद्र की ओर से मास्क दिया जाएगा। मास्क पहन परीक्षार्थी परीक्षा देने के लिए केंद्र के अंदर प्रवेश कर सकेंगे। प्रदेश में 21 केंद्र बनाए गए हैं।

लखनऊ में पांच हजार परीक्षार्थी होंगे शामिल

देशभर के आईआईटी, ट्रिपल आईटी समेत प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों में दाखिले के लिए आयोजित होने वाली जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) मेन्स मंगलवार को है। जानकारी के मुताबिक परीक्षा में राजधानी लखनऊ में करीब पांच हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा ऑनलाइन होगी। परीक्षा के लिए राजधानी में आयन जोन बिजनौर रोड ओमेक्स सिटी, आजाद टेक्निकल कैम्पस, आजाद पुरम बांग्ला बाजार निकट सीआरपीएफ कैंप बिजनौर, आयन डिजिटल जोन तिवारीपुर निकट सीएसआइआर सीडीआरआई जानकीपुरम एक्सटेंशन समेत कुल चार केंद्र बनाए गए हैं। पहले दिन बीआर्क की परीक्षा होगी। परीक्षा दो पालियों में होनी है।

मेरठ में 4108 पंजीकृत

जेईई मेन्स परीक्षा में मेरठ से 4108 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। इन सभी का पंजीकरण हुआ है। इस बाबत मेरठ में दो परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। एक परीक्षा केंद्र आइआइएमटी गंगानगर है और दूसरा एफआइटी मवाना रोड में परीक्षा होगी। छात्र-छात्राओं को कोरोना महामारी से संबंधित शारीरिक दूरी, सैनिटाइजर और मास्क के नियमों का अनिवार्यता से पालन करना है। इसके साथ ही परीक्षा केंद्र पर एक घंटे पहले जरूर पहुंचना होगा। परीक्षा केंद्रों पर सभी छात्रों की जांच पड़ताल के बाद ही एंट्री मिलेगी। दोनों केंद्र सैनिटाइज करा दिए गए हैं। सभी परीक्षक मास्क पहनकर ही केंद्र पर रहेंगे।

गोरखपुर में छह केंद्र

जेईई मेन्स परीक्षा के लिए गोरखपुर में छह सेंटर बनाए गए हैं। नोडल अधिकारी एसपी क्राइम ने बताया कि परीक्षा एक से छह सितंबर तक दो पालियों में होगी। एक पाली में 300 विद्यार्थी होंगे। सभी सेंटर मुख्य मार्ग के संपर्क में हैं। सेंटरों पर कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन कराने के लिए सभी इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं।

कानपुर में छह परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा देंगे 25 हजार छात्र-छात्राएं

कानपुर में 25 हजार छात्र छात्राएं छह केंद्रों पर जेईई मेंस की परीक्षा देंगे। एक से छह सितंबर तक होने वाली इस परीक्षा के लिए टाटा कंसल्टेंसी सॢवसेज ने टीसीएस हाथीपुर में दो, पनकी में दो, केशवपुरम में एक व आरसीआरडी चकरपुर में एक डिजिटल परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट के तहत होने वाली प्रवेश परीक्षा सुबह साढ़े नौ से 12 और दोपहर तीन से छह बजे की दो पालियों में होगी। कोविड-19 प्रोटोकॉल के चलते इस बार 12 चरणों में परीक्षा होगी, जबकि पिछले वर्ष आठ चरणों में हुई थी।

आगरा में चार परीक्षा केंद्र

ताजनगरी आगरा में 8220 विद्यार्थी चार केंद्रों पर जेईई मेंस की परीक्षा देंगे। एक से छह सितंबर तक होने वाली इस परीक्षा के लिए टीसीएस डिजिटल जोन (कुबेरपुर) आरकेजीएम (इंडस्ट्रियल एरिया, सिकंदरा),टीसीएस डिजिटल जोन ( कामायनी हॉस्पीटल के सामने) व टीसीएस डिजिटल जोन (तेहरा) केंद्र बनाए गए हैं। कोविड-19 प्रोटोकॉल के चलते इस बार 12 चरणों में परीक्षा होगी, जबकि पिछले वर्ष आठ चरणों में हुई थी। हर केंद्र पर कोरोना के कारण 50 प्रतिशत ही अभ्यर्थी ही रखे गए हैं। यहां पर दोनों पालियों की परीक्षा के बाद हर कमरे, फर्नीचर को सैनिटाइज किया जाएगा।

बरेली एक केंद्र पर 1800 परीक्षार्थी

बरेली में जेईई मेन्स के लिए एक परीक्षा केंद्र बनाया गया है। यहां शहर से 12 किमी दूर नैनीताल रोड पर सिद्धि विनायक इंस्टीट्यूट में पहली से छह सितंबर तक होने वाली इस परीक्षा में प्रतिदिन 300 छात्र-छात्राएं परीक्षा में बैठेंगे। प्रवेश परीक्षा सुबह साढ़े नौ से 12 और दोपहर तीन से छह बजे की दो पालियों में होगी। कोविड-19 के चलते सैनिटाइजर, मास्क जैसी बाध्यताएं लागू रहेगी।

अलीगढ़ में एक केंद्र 

अलीगढ़ के आइटीएम में जेईई की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा है। सुबह की पाली में 167 और दूसरी पाली में 142 स्टूडेंट्स शामिल होंगे। कुल 309 स्टूडेंट्स परीक्षा में शामिल होंगे।

मुरादाबाद मंडल में 138 परीक्षार्थी

मुरादाबाद मंडल में सिर्फ मुरादाबाद में परीक्षा मुरादाबाद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआइटी) में आयोजित होगी। यहां परीक्षा देने के लिए 138 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। सैनिटाइजेशन के लिए कॉलेज में सैनिटाइजर टनल लग गई है। इसी से होकर सभी गुजरेंगे। एक पाली की परीक्षा समाप्त होने जाने के बाद पूरे सेंटर को सैनिटाइज किया जाएगा। उसके बाद दूसरी पाली की परीक्षा होगी।

अलीगढ़ में एक केंद्र

अलीगढ़ में आइटीएम में सोमवार को जेईई की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा है। एटीएम सिटी राकेश मालपाणि के अनुसार 250 परीक्षार्थी भाग लेंगे।

प्रयागराज में नौ केंद्रों पर परीक्षा

जेईई मेंस 2020 के लिए प्रयागराज में नौ परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। छह सितंबर तक परीक्षा चलनी है और प्रति केंद्र करीब दो सौ अभ्यर्थी अलग-अलग पालियों में परीक्षा देंगे। अनुमान है कि करीब 16 से 18 हजार अभ्यर्थी यहां परीक्षा में शामिल होंगे। पहली पारी नौ से 12 बजे तक चलेगी जबकि दूसरी पाली दोपहर तीन से शाम छह बजे तक। अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र पर एक घंटे पहले रिपोर्टिंग के लिए कहा गया है। अभिभावक डेढ़ सौ मीटर दूर ही रहेंगे। परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थी के तापमान की जांच होगी। इसके साथ ही उसे तीन लेयर वाला मास्क सुलभ कराया जाएगा। कोविड -19 के मानक के तहत फिजिकल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखकर सिटिंग अरेंजमेंट किया गया है।

वाराणसी जिले में कुल 20 केंद्र

नीट की परीक्षा के लिए वाराणसी जिले में कुल 20 केंद्र बनाए गए हैं। सभी केंद्र से शहर से बाहर बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर कोविड-19 को देखते हुए सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। केंद्र संचालक को सैनिटाइज कराने के साथ शारीरिक दूरी का पालन कराने को कहा गया है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.