दिल्ली में 6 सितंबर तक साप्ताहिक बाजार लगाने की अनुमति

नई दिल्ली। दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) द्वारा साप्ताहिक बाजारों को 6 सितंबर तक लगाए जाने की अनुमति दी गई है। कोविड-19 महामारी के चलते दिल्ली में पिछले कई महीने से बंद साप्ताहिक बाजारों को पिछले सप्ताह ट्रायल बेस पर खोलने की अनुमति दी गई थी। अब यह अनुमति 6 सितंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है। इस दौरान साप्ताहिक बाजार जरूरी एहतियातों के साथ खुल सकेंगे। बीते बुधवार को दिल्ली सरकार के प्रस्ताव पर होटलों, जिम और साप्ताहिक बाजारों को खोलने को लेकर डीडीएमए की बैठक हुई थी, जिसमें ट्रायल के आधार पर साप्ताहिक बाजारों को खोलने की भी मंजूरी दी गई। वहीं, दिल्ली में अभी जिम को खोलने पर पाबंदी जारी रहेगी। जिम खोलने पर बाद में निर्णय लिया जाएगा।

कोरोना लॉकडाउन के बाद से आर्थिक तंगी से जूझ रहे साप्ताहिक बाजारों के दुकानदारों ने अरविंद केजरीवाल सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए साप्ताहिक बाजारों को खोलने की अनुमति देने पर आभार जताया है।

दिल्ली के मुख्य सचिव सत्य गोपाल ने आदेश जारी करते हुए कहा, “ट्रायल के आधार पर साप्ताहिक बाजार 6 सितंबर तक लगाने की अनुमति दी गई है। अनुमति 31 अगस्त से 6 सितंबर तक 1 सप्ताह के लिए प्रदान दी गई है।”

दिल्ली सरकार का कहना है कि शहर में कोरोना के चलते बिगड़े हालात में अब काफी सुधार है। अब दिल्ली की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना है। प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई है। अब दिल्ली में सारे साप्ताहिक बाजार लग सकेंगे। साप्ताहिक बाजार को ट्रायल के तौर पर चालू किया जा रहा है। बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की गुजारिश की गई है।

बीते छह महीनों के दौरान दिल्ली की केजरीवाल सरकार का टैक्स कलेक्शन भी कम हो गया है। दिल्ली सरकार के मुताबिक, टैक्स बिल्कुल भी नहीं आ रहा है। अर्थव्यवस्था लड़खड़ाने लगी है।

हालांकि अब दिल्ली के सभी बाजार पूरी तरह से खोल दिए गए हैं। दिल्ली में साप्ताहिक बाजारों के अलावा बैंक्वेट हॉल और होटल कारोबार चलाने की भी अनुमति दी गई है। दिल्ली सरकार को उम्मीद है कि काम-धंधे शुरू होने के बाद राजस्व बढ़ेगा।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.