पूर्व ऑलराउंडर ने बताया, क्या-क्या बदला MS Dhoni और विराट कोहली के युग में

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान का मानना है कि एमएस धौनी और विराट कोहली की कप्तानी की शैली में बड़ा अंतर है। इरफान पठान ने एमएस धौनी मैच की सबसे मुश्किल परिस्थितियों में शांत रहने की क्षमता के लिए “कैप्टन कूल” का नाम दिया है, जबकि विराट कोहली ने अपनी टीम में एक ऐसा रवैया पेश किया है जो आक्रमक रहता है। इस तरह दोनों की कप्तानी में काफी अंतर है।

इरफान पठान ने कहा है, “धौनी के युग में हमने एक शांति देखी और विराट कोहली के युग में हमने आक्रामकता देखी। सफल होने के लिए आपको इन दोनों गुणों की आवश्यकता होती है।” स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड में बात करते हुए पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर ने कहा है, “एक खिलाड़ी अपनी शांति और अपनी आक्रामकता का उपयोग बेहतर प्रदर्शन करने के लिए करता है। ऐसा हमने दोनों युगों में देखा है।”

पठान ने आगे कहा, “हमने देखा है कि एमएस धौनी अंत में आते हैं और हमें मुश्किल परिस्थितियों से मैच जिताते हैं और हमने विराट कोहली का टेस्ट क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड देखा है। ऑस्ट्रेलिया जाकर वहां उनको हराया है। उनके तेज गेंदबाज जो हमेशा आक्रामक क्रिकेट खेलते हैं, वे किसी पर भी हावी हो सकते हैं, लेकिन विराट कोहली वहां गए और एक खिलाड़ी के रूप में और एक कप्तान के रूप में उनके ही मैदान पर अपने गेंदबाजों को हावी कर दिया।”

31 वर्षीय विराट कोहली 19 सितंबर से शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग के आगामी सत्र में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान के रूप में नेतृत्व करेंगे। दूसरी ओर धौनी चेन्नई सुपर किंग्स की अगुवाई करेंगे क्योंकि वह अपना चौथा आइपीएल खिताब जीतने उतरेंगे। धौनी भारत के सफल कप्तान भी हैं, क्योंकि उन्होंने आइसीसी की तीन ट्रॉफियां जीती हैं, जबकि विराट कोहली कोई खिताब आइपीएल का नहीं जीत पाए हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.