प्लाज्मा-दान के लिए दिल्ली के सभी मंत्री लोगों को कर रहे प्रोत्साहित

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा प्लाज्मा बैंक बनाए जाने की घोषणा के बाद दिल्ली सरकार के सभी मंत्री प्लाज्मा बैंक की जानकारी दिल्ली वासियों को मुहैया करा रहे हैं और लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित भी कर रहे हैं। कोरोना रोगियों के उपचार के लिए दिल्ली में प्लाज्मा बैंक बनाया जा रहा है। दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन इस प्लाज्मा बैंक को अपना रक्त प्लाज्मा दान करेंगे। सत्येंद्र जैन के अलावा आम आदमी पार्टी के वे सभी विधायक जो संक्रमित होने के बाद ठीक हुए हैं, अपना प्लाज्मा दान करेंगे।

ट्विटर, फेसबुक एवं जनसंपर्क के अन्य माध्यमों से दिल्ली सरकार के सभी मंत्री प्लाज्मा बैंक और इसकी उपयोगिता के बारे में लोगों को समझाने का प्रयास करेंगे।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। हालांकि अब वह स्वस्थ हो चुके हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी मिल चुकी है। जैन ने कहा, “मैं घर पर हूं और अब मेरा स्वास्थ्य बेहतर हो रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा प्लाज्मा बैंक की घोषणा एक क्रांतिकारी कदम है। प्लाज्मा थेरेपी से ही मेरा जीवन बचाया गया है। मैं स्वयं जल्द से जल्द डॉक्टरों की सलाह पर अपना प्लाज्मा डोनेट करूंगा।”

यह प्लाज्मा बैंक किसी सामान्य ब्लड बैंक की तरह काम करेगा। कोरोना रोगी की प्लाज्मा थेरेपी के लिए यहां से प्लाज्मा हासिल किया जा सकेगा। दिल्ली सरकार ने प्लाज्मा बैंक आईएलबीएस अस्पताल में स्थापित करने का फैसला लिया है।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “दिल्ली सरकार देश का पहला प्लाज्मा बैंक बना रही है। कोरोना से ठीक हो चुके लोग अपना प्लाज्मा जरूर दान करें। किसी की जान बचाने का मौका बहुत कम मिलता है। इससे बड़ा कोई धर्म नहीं।”

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के अलावा आम आदमी पार्टी के तीन अन्य विधायक भी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। कालकाजी से विधायक आतिशी की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। आतिशी अभी हल्के लक्षणों के साथ अपने घर पर ही हैं। करोलबाग के विधायक विशेष रवि और पटेल नगर के विधायक राजकुमार आनंद भी कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, ये सभी विधायक स्वस्थ होने पर स्वेच्छा से प्लाज्मा दान करेंगे।

दिल्ली सरकार ने प्लाज्मा देने वाले व्यक्तियों की सुरक्षा एवं सुविधा को ध्यान में रखते हुए आईएलबीएस अस्पताल को प्लाज्मा बैंक और रक्तदान केंद्र बनाया है। आईएलबीएस में कोरोना का उपचार नहीं होता, इसलिए यहां आने वाले को कोरोना संक्रमण होने का खतरा कम है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.