प्रदेश कांग्रेस के नेताओं में कोरोना संकट के समय में भी दिल्ली दरबार को खुश करने की होड़

जयपुर । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा.सतीश पूनिया ने कहा की कोरोना संकट के समय में भी प्रदेश कांग्रेस के नेताओं में दिल्ली दरबार को खुश करने की होड़ लगी है ।
डा.पूनिया ने कहा की उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट पत्रकार वार्ता कर प्रियंका गांधी की नौटंकी पर सफ़ाई देने आते है , पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधायक-सांसदो के साथ हुई वीसी में उनको बुलाते ही नहीं । कांग्रेस का ड्रामा पूरे देश ने देखा है , की किस तरह प्रियंका गांधी को हीरो बनाने के लिए गरीब मज़दूरों के नाम पर कांग्रेस द्वारा नौटंकी की गई । सारे राजस्थान में अभी तक भी मज़दूर सड़कों पर पैदल चल रहे है , लेकिन उन पर सरकार का ध्यान नहीं है ।1000 बसों का दावा करने वालों ने यूपी के बोर्डर पर स्कूल वालों को डरा धमका कर , आरटीओ ने दबाव बना कर कुछ बसें खड़ी कर दी , लेकिन जिनको ले जाने के नाम कांग्रेस ये ड्रामा कर रही थी , वो मज़दूर उन बसों में थे ही नहीं । ख़ाली खड़ी बसों के ड्राईवर-कंडेक्टर को खाना तक नहीं दिया गया , उन्होंने सरकार के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया । एक फ़र्ज़ी सूची यूपी सरकार को पकड़ा दी, जिसमें बसों के कम और आटो , मोटरसाईकल के नम्बर ज़्यादा थे , और इसी धोखाधड़ी के अपराध में यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जेल में बैठे है ।
डा. पूनिया ने कहा की सोनिया गांधी ने मज़दूरों का किराया देने की घोषणा की थी वो राजस्थान सरकार की बसों से उनको भेज देती , किराया सरकार को जमा करवा देती , पर उनको वाही-वाही लुटने के लिए केवल घोषणा करनी थी , करना कुछ नहीं था , उनकी और उनकी पार्टी की सरकार की ढिलाई के कारण प्रदेश में लाखों लोग परेशान हुए और हो रहें है । भारत सरकार ने 85 प्रतिशत रियायत के साथ ट्रेन चलाई थी , पर राजस्थान सरकार ने ट्रेन के ज़रिए प्रवासियों को लाने-ले जाने में रुचि नहीं दिखाई , क्योंकि इसमें भले ही मज़दूरों का हित था पर गांधी परिवार का स्वार्थ पुरा नहीं हो रहा था ।
उन्होंने कहा कि फ़्री बस भेजने वालों ने कुछ बसें यूपी के छात्रों को छोड़ने के लिए भेजी थी , पर यूपी की सरकार से उसका भी किराया ले लिया , एक तरफ़ भारत सरकार पुरी तरह से लोगों के हितों के निर्णय करती जा रही है , दूसरी तरफ़ कांग्रेस की प्रदेश सरकार पड़ोस के प्रदेश की सरकार से बसों का किराया ले रही है ।
डा.पूनिया ने परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज करवाने के बयान पर उन्हें सलाह देते हुए कहा की संकट के इस समय में वे गांधी परिवार की चापलूसी की होड़ में शामिल होने के बजाय , प्रदेश भर में सड़कों पर चल रहे लोगों को सरकारी बसों से उनके घरों तक सुरक्षित पहुँचाने पर ध्यान दे ।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.