जानें क्या है फायदे अलग-अलग तरह की चाय से

ज्यादातर घरों में सुबह की शुरूआत गरमा-गरम चाय के प्याले के साथ होती है लेकिन दूध और चीनी से बनने वाली चाय की जगह अगर आप ब्लैक, ग्रीन या हर्बल टी का ऑप्शन चुनते हैं तो आपको सेहत में कई सारे सुधार देखने को मिलेंगे। तो आइए जानते हैं इन अलग-अलग तरह की चाय और उनसे होने वाले फायदों के बारे में..

तुलसी की चाय

ग्रीन टी

ग्रीन टी में कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो मेटाबॉलिज्म बढ़ाते हैं। इससे  वजन कम करने में आसानी होती है। साथ ही रोजाना पीने से डायबिटीज, कैंसर और हार्ट अटैक जैसी बीमारियों की संभावनाएं काफी हद तक कम हो जाती हैं। इसके अलावा इसमें कई ऐसे गुण होते हैं, जो सेहत के साथ-साथ आपकी त्वचा को भी फायदा पहुंचाते हैं। चेहरे से झुर्रियों दूर कर निखार लाने और बालों को मज़बूत बनाती है ये चाय।

हर्बल टी

इसके नियमित सेवन से कई फायदे होते हैं। इससे मन शांत रहता है और सेहत अच्छी रहती है। इससे पाचन तंत्र मजबूत रहता है तथा शरीर भीतर से साफ रहता है। इसके पीने से ऊर्जा भी भरपूर बनी रहती है। तनाव को दूर करने में ये सहायक होती है। इससे सर्दी-जुकाम से भी निजात मिल जाती है। नींद अच्छी के लिए भी इसका सेवन किया जाता है। इसकी सबसे बड़ी बात है कि इसके सेवन से आम चाय की तरह कैफीन की लत नहीं लगती। इसकी सबसे खास बात ये है कि पारंपरिक चाय की तरह इसमें दूध-चीनी मिलाने की जरूरत नहीं होती।

ब्लैक टी 

ब्लैक टी हाई कोलेस्टॉल, डायरिया, डाइजेशन और अस्थमा में लाभकारी होती है। काली चाय में मौजूद फ्लेवेनाल्स एक ऐसा पोषक तत्व होता है,जो दिमाग को हेल्दी रखने में मदद करता है। इसकी वजह से अल्जमाइर और डिमेंशिया जैसी बीमारी का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है। काली चाय में टैनिन की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए यह हमारी पाचन क्रिया को दुरूस्त बनाए रखती है और एसिडिटी की समस्या भी दूर करती है।

पेपरमिंट टी

पुदीना औषधीय गुणों से भरपूर है। इससे बनी हर्बल टी दुनिया भर में पी जाती है। पुदीने को पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद माना जाता है। यही वजह है कि इसे चटनी और ठंडे पेय पदार्थों में इस्तेमाल किया जाता है।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.