अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय की नयी नीति का हुआवेई ने किया कड़ा विरोध

बीजिंग| 17वीं वैश्विक विश्लेषक महासभा के उद्घाटन समारोह में हुआवेई कंपनी के वर्तमान बोर्ड अध्यक्ष क्वो फिंग ने कहा कि हुआवेई कंपनी इस बात का कड़ा विरोध जताती है कि अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय ने केवल हुआवेई के प्रति उत्पादों की नीति-नियम में सुधार किया है। वर्ष 2019 के 16 मई से अमेरिकी सरकार ने हुआवेई को बिना किसी कारण के इकाई सूची में शामिल किया।

उन्होंने कहा कि बहुत से तकनीकी तत्वों के अभाव की स्थिति में हुआवेई कंपनी ने संबंधित कानून व नीति-नियमों का पालन कर ग्राहकों व प्रदायकों के बीच प्राप्त संविदात्मक दायित्व का पालन करने की बड़ी कोशिश की है, और बहुत-सी मुश्किलों को दूर कर विकास भी किया है।

उन्होंने कहा कि अमेरिकी सरकार ने हुआवेई के विकास में बाधा पहुंचाने के लिये बहुत से व्यावसायिक संघों व उद्यमों की चिंता की उपेक्षा कर संबंधित नीति-नियम का सुधार किया। संशोधित नियम इस उद्योग के प्रति अभिमानी और विनाशकारी साबित होगी। ऐसे नियम के तहत विश्व के 170 से अधिक देशों में हुआवेई उत्पादों का प्रयोग करने वाले कई खरब अमेरिकी डॉलर के नेटवर्क पर बड़ा नुकसान पहुंचेगा। साथ ही हुआवेई उत्पादों व सेवा का प्रयोग करने वाले 3 अरब से अधिक लोगों पर भी बुरा असर पड़ेगा। अमेरिकी सरकार ने अन्य देश के उन्नत उद्यम पर दबाव डालने के लिये इस कंपनी के वैश्विक ग्राहकों व उपभोक्ताओं के अधिकारों व हितों का उल्लंघन किया है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.