Covid-19:लॉकडाउन में झगड़ा करने से बच सकेंगे पति-पत्नी अलग रहकर

sad wife and husband, angry couple in bedroom. unhappy couple concept. usband and wife are sitting on the couch, looking away from each other. husband is not ready to have a dialogue; Shutterstock ID 1545159362; Purchase Order: RS.com

कोरोनावायरस लॉकडाउन के कारण चौबीसों घंटे घर में साथ रहने से पति-पत्नी के बीच झगड़े बढ़ गए हैं। तीन अप्रैल को टि्वटर पर हैशटैग कोरोना डिवोर्स ट्रेंड करने लगा। इसे देखकर टोक्यो आधारित एक टूरिज्म ऑपरेटर कंपनी ने सोचा कि आखिर दंपति लॉकडाउन के दौरान आपसी तनाव को कैसे झेल रहे होंगे। कसोकु नामक इस कंपनी ने ऐसे तनावग्रस्त दंपतियों को एक ही होटल के अलग-अलग कमरों में रहने का प्रस्ताव दिया। कंपनी के अधिकारी अराई ने कहा, हम लोगों को तलाक लेने से बचाना चाहते थे। छुट्टी के लिए किराये पर कमरे देने के पीछे का विचार यह है कि विवाहित जोड़े अपने रिश्तों के बारे में सोचने के लिए कुछ ज्यादा समय और स्थान प्राप्त कर सकते हैं।

जीवनशैली में हुआ बदलाव
पिछले एक दशक में, जापान ने कर्मचारियों के लिए बेहतर कार्य-जीवन संतुलन बनाने की कोशिश की है। हालांकि, 1970 और 80 के दशक में जापान के आर्थिक उभार के लिए पुरुषों ने  लंबे घंटों तक काम किया था, लेकिन आज अधिक पुरुष अपने परिवारों के साथ समय बिता रहे हैं। टोक्यो के टेंपल यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञ जेफ किंग्सटन ने कहा कि आज भी कई पुरुष कार्यालयों में लंबा वक्त गुजराते हैं। लेकिन, इसके पीछे उनके बॉस कारण नहीं हैं बल्कि वे अपने घर जाने से बचने के लिए ऐसा करते हैं।

किंग्सटन का कहना है कि लॉकडाउन ने सबकुछ बदलकर रख दिया है। अब पति-पत्नी और बच्चों को चौबीसों घंटे एक ही छत के नीचे रहना पड़ रहा है। ऐसे में उनके बीच तनाव बढ़ रहा है। कसोकु इन लोगों को राहत देने की एक कोशिश कर रहा है। यह घरेलू हिंसा का सामना करने वाली महिलाओं के साथ काम करने में भी मदद करता है ताकि उन्हें अपने बजट के भीतर रहने के लिए जगह मिल सके। यह देखते हुए कि 2019 में जापान में घरेलू हिंसा एक रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गई, यह एक ऐसी सेवा है जो शायद ही महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।

क्या है कंपनी का प्रस्ताव
कंपनी जापान में होटल और सराय में 500 पूरी तरह से सुसज्जित कमरे प्रदान करती है। मेहमान एक दिन से छह महीने तक रह सकते हैं। एक यूनिट की लागत सिर्फ 4,000 येन ( 37 डॉलर) प्रति दिन और प्रति माह 90,000 ( 844 डॉलर) तक है। कसोकु को 140 से अधिक पूछताछ के आवेदन मिले है। ज्यादातर पूछताछ  30 से 40 साल की उम्र की महिलाओं ने की है। ये महिलाएं या तो एक शांत जगह की तलाश में हैं या फिर अपने पति से दूर समय चाहती हैं। अब तक, 37 लोगों ने एक कमरा किराए पर लेने का विकल्प चुना है।  अराई ने कहा, हम चाहते है कि लोग इस सुविधा का लाभ उठाकर ये सोचें कि उनके रिश्ते में क्या गलत है और किस चीज को ठीक करने की जरूरत है। इस सुविधा को हम एक अस्थाई निवास के तौर पर देखते हैं।

– जापान में होटल वालों ने दंपति को कुछ समय अलग रहने के लिए कमरे उपलब्ध कराने का प्रस्ताव दिया
– जापान में वर्क फ्रॉम होम के दौरान कामकाजी दंपतियों के बीच बढ़ रहे झगड़े
– सोशल मीडिया पर कोरोना डिवोर्स हैशटैग भी कर रहा ट्रेंड

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.