देश में मास्क बनाने में पंजाब के सरकारी आईटीआई के विद्यार्थी रहे अव्वल

चंडीगढ़ । कोरोना वायरस की महामारी के कारण देश बहुत मुश्किलों भरे दौर में से गुजऱ रहा है और तालाबन्दी के दौरान राज्य के सरकारी आई.टी.आईं के विद्यार्थियों ने मास्क तैयार करके राज्य का मान बढ़ाया है। तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने अधिकारियों, प्रिंसिपल और विद्यार्थियों को इस प्राप्ति के लिए बधाई दी। मंत्री ने कहा कि पंजाब निवासियों ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि देश को ज़रूरत पडऩे पर संकट की स्थिति में कोई भी ड्यूटी या जि़म्मेदारी निभाने में पंजाबी हमेशा अग्रणी रहते हैं।
तकनीकी शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमारी आई.टी.आईज़ ने आज तक ढाई लाख से अधिक मास्क बनाऐ हैं। उन्होंने अधिकारियों, प्रिंसिपलों और विद्यार्थियों को इस अच्छे काम को प्रौत्साहन देने के साथ साथ जारी रखने की अपील भी की। उन्होंने विद्यार्थियों को मास्क बनाते समय ज़रूरी सावधानी बरतने की सलाह भी दी।
तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण पंजाब के प्रमुख सचिव अनुराग वर्मा ने बताया कि केंद्रीय कौशल विकास और उद्यम मंत्री महेन्दरा नाथ पांडे ने कोविड से सम्बन्धित अच्छे कार्य करने वाली देश भर की 28 आई.टी.आईज़ के प्रिंसिपलों और विद्यार्थियों के साथ एक वीडियो कान्फ्ऱेंस की, इनमें से 6 आई.टी.आईज़ पंजाब की हैं। केंद्रीय मंत्री ने मास्क बनाने के लिए पंजाब की आई.टी.आईज़ के कामों की भरपूर सराहना की। उन्होंने बताया कि पंजाब से दलजीत कौर सिद्धू, तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के अतिरिक्त डायरैक्टर, आईटीआइ राजपुरा, पटियाला, मोगा, रईया, एस.ए.एस.नगर और गवर्नमैंट टेक्नॉलॉजी अमृतसर के सरकारी इंस्टीट्यूट के प्रिंसिपल और विद्यार्थियों ने केंद्रीय मंत्री के साथ वीडियो काँफ्रेंंसिंग में हिस्सा लिया।
वर्मा ने कहा कि उन्होंने राज्य के सभी डिप्टी कमिश्नरों को पहले ही लिखकर कहा है कि वह आईटीआई के विद्यार्थियों से मुफ़्त मास्क सिलाई करवा सकते हैं। वर्मा ने आगे कहा कि सबसे बढिय़ा बात यह है कि मास्क बनाने के लिए कच्चा माल दान के द्वारा एकत्रित किया जा रहा है और सिलाई सेवा के रूप में ली जा रही है और मास्क मुफ़्त बाँटे जा रहे हैं।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.