देश में LOCKDOWN के बीच बढे घरेलू हिंसा के मामले, पति निकाल रहे हैं महिलाओं पर गुस्सा

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बीच महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामले बढ़ गए हैं।
सामाजिक वैज्ञानिक ने बताया कि इस दौरान घरों में बंद पति अपना गुस्सा पत्नियों पर उतारने लगे हैं और पत्नियों के सामने उनसे बचाव का कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है।
राष्ट्रीय महिला आयोग को 23 मार्च से 30 मार्च तक घरेलू हिंसा की 58 शिकायतें प्राप्त हुई हैं । आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने बताया कि ज्यादातर शिकायतें उत्तर भारत खासकर पंजाब से मिल रही हैं।

उन्होंने बताया कि पुरुष घरों में बैठे-बैठे परेशान हो गए हैं और अपना सारा गुस्सा महिलाओं पर निकाल रहे हैं। उन्होंने बताया कि सारी शिकायतें ईमेल से प्राप्त हो रही हैं। वास्तविक आंकड़ों का पता तब चलेगा जब समाज की निचले तबके की महिलाओं की शिकायतें डाक से मिल पाएगी।
रेखा शर्मा ने बताया कि घरेलू हिंसा की शिकार अधिकांश महिलाएं ईमेल से शिकायत भेजना नहीं जानतीं, इसलिए डाक से शिकायतें मिलने के बाद यह आंकड़ा और बढ़ेगा।

राज्य आयोगों के पास भी ऐसी शिकायतें मिल रही हैं। हिंसा की शिकार ज्यादातर महिलाओं ने माना कि यदि उन्हें लॉकडाउन का पहले पता होता तो वह सुरक्षित स्थानों पर चली जातीं। उल्लेखनीय है कि पूरे देश में 24 मार्च की मध्य रात्रि से तीन हफ्ते का लॉकडाउन है।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.