पपीता लगाता है आपकी सुंदरता में चार चांद

लाइफस्टाइल। पपीता एक ऐसा फल है। जो कच्ची अवस्था में यह हरे रंग का होता है और पकने के बाद पीले रंग का हो जाता है। इसके कच्चे और पके फल दोनों ही उपयोग में आते हैं। कच्चे फलों की सब्जी बनती है। इन कारणों से घर के पास लगाने के लिए यह बहुत उत्तम फल माना जाता है।

पपीता खाने में बहुत टेस्टी फल है इस में औषधीय गुणों की भरमार होती है। पपीता को कोस्टारिका और मैक्सिको के मूल निवासी माना जाता है और इस का पेड स्वास्थ्य के लिए लाभदायक कहा जाता है। गर्मी के सीजन में पपीते का गूदा का पेस्ट बनाकर मुंह पर मलें। इसके थोडी देर बाद छुडाकर मुंह धो लें। इससे चेहरे पर निखार तथा गोरापन आ जाएगा। पपीते का असीम तत्व चेहरे की मुलायम त्वचा को स्वच्छा कर देता है।

पेट की तमाम बीमारियों में कच्चा तथा पका दोनों प्रकार का पपीता काम में लाया जाता है। पेट की खराबी, भोजन न पचना, अजीर्ण, कब्ज, उदरशूल आदि में कच्चे पपीते का रस पेप्सीन, प्रयोग किया जाता है। पपीते का रस पीने से भी पेट के रोग दूर हो जाते हैं। पपीते का पानी शरीर के रूप रंग को निखारता है। किशोरियों तथा युवतियों को पपीते के टुकडे को पानी में डालकर स्नान करना चाहिए।

अगर स्नान के तुरन्त बाद पपीते का शरबत पी लें तो यह आंतों की गर्मी को ठीक करता है और पाचन-क्रिया को बढाता है। पपीता देखने में जितना सुंदर होता है उतनी ही खाने में स्वादिष्ट। पपीते में नैचुरल गुण होने के वजह से यह हेल्थ के लिए बेहत फायदेमंद होता है। डायबिटीज के रोगी के लिए पपीता बहुत लाभदायक है। पपीते में कैरोटीन, विटामिन सी और पोटेशियम, मैग्नीशियम साथ ही आहार फाइबर के रूप में विटामिन बी आदि शामिल होते हैं।

पपीता त्वचा के लिए बहुत लाभदायक होता है, इस में विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती है। पपीते के गूदा और शहद का एक बडा चम्मच मिलाकर चेहरे पर लगाएं इससे मॉइश्चराइजिंग करें 10 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें फिर देखें त्वचा को कई पोषक पदार्थो मिल जाते हैं।

पपीता खाना स्वस्थ के लिए महत्वपूर्ण होता है। इस में फाइबर की मात्रा के कारण शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। पपीता में फाइबर एंटीऑक्सीडेंट आंतों और पेट साफ करने में मदद मिलती है। पीरिड्स में दर्द से गुजर रही महिलाओं को अपने आहार में पपीता जरूर शामिल करना चाहिए, क्योंकि पापिन नाम एंजाइम माहवारी के दौरान रक्त के प्रवाह को दर्द से दूर रखता है।

Advertisement
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.