थाईलैंड के शाही दंपति का कोरोना वायरस के डर से नैनीताल दौरा स्थगित

कोरोना वायरस के डर से थाईलैंड के राजा-रानी का 13 फरवरी को प्रस्तावित नैनीताल दौरा भी स्थगित हो गया है। थाई के राजदूत चुटिंटोर्न गोंग्सकदी ने कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते रॉयल फैमिली का दौरा स्थगित होने की सूचना दी है। फिलहाल राजकुमारी का पूर्व निर्धारित दौरा यथावत है।

थाईलैंड के राजा माहा वाजीरलोंग्कॉर्न और रानी सुतिडा का 13 फरवरी को नैनीताल आने का कार्यक्रम था। इसके चलते पूर्व में थाई राजदूत चुटिंटोर्न गोंग्सकदी के नेतृत्व में 11 सदस्यीय दल ने पंतनगर एयरपोर्ट से नैनीताल तक का जायजा ले चुका है। तय कार्यक्रम के अनुसार शाही दंपति को 13 फरवरी को नैनीताल के नैनी रिट्रीट होटल पहुंचना था। नैनीताल और भीमताल में उनके ठहरने की तैयारियां पूरी कर ली गई थीं। इधर, एक दिन पहले बुधवार को थाई राजदूत ने होटल प्रबंधन को कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते शाही दंपति का दौरा निरस्त होने की सूचना दी। नैनी रिट्रीट होटल के महाप्रबंधक डीएस जीना ने बताया कि सभी तैयारियों के बीच शाही दंपति का भ्रमण कार्यक्रम स्थगित होने की सूचना मिली है।

आज मुक्तेश्वर पहुंचेंगी थाईलैंड की राजकुमारी
थाईलैंड की राजकुमारी उबोलरत्ना गुरुवार को हैदराबाद से नैनीताल भ्रमण पर पहुंचेंगी। तय कार्यक्रम के तहत राजकुमारी हैदराबाद से देहरादून और देहरादून से पंतनगर एयरपोर्ट आएंगी, जहां से वह नैनीताल के लिए रवाना होंगी। शाम पांच बजे उन्हें मुक्तेश्वर के देवस्थल में पहुंचना है। आर्य भट्ट प्रेक्षण विज्ञान एवं शोध संस्थान एरीज के वरिष्ठ खगोल वैज्ञानिक डॉ. शशिभूषण पांडे ने बताया कि राजकुमारी इस दौरान देवस्थल में स्थापित एशिया की सबसे बड़ी दूरबीन 3.6 मीटर का अवलोकन भी करेंगी। शाम सात बजे वह यहां से वापस हैदराबाद के लिए रवाना होंगी। एसडीएम विनोद कुमार के अनुसार जिला प्रशासन की ओर से तैयारियां कर ली गई हैं।

नैनीताल में विदेशी पर्यटन प्रभावित
कोरोना वायरस के चलते नैनीताल में विदेशी सैलानियों की आमद पर भी विराम लग गया है। पर्यटन कारोबारियों के अनुसार नैनीताल समेत आसपास के स्थानों पर विदेशी सैलानियों के पहुंचने की संख्या में 70 फीसदी तक गिरावट दर्ज की गई है। नैनी रिट्रीट होटल के जीएम डीएस जीना ने बताया कि विदेशी पर्यटकों की ओर से की गई ऑनलाइन बुकिंग भी निरस्त कराई जा रही हैं। ऐसे में यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि कोरोना वायरस से पर्यटन पर असर पड़ रहा है।

पहाड़ ने मोहा मन, कोरोना ने रोके पांव
थाईलैंड के राजा-रानी पहाड़ की खूबसूरती और प्राकृतिक सौंदर्य से खासे प्रभावित थे। इस दौरान उन्होंने नैनीताल के हेरिटेज भवनों और पर्यटक स्थलों के संबंध में जानकारी भी मांगी थी। लेकिन इसी बीच कोरोना वायरस के कारण उन्हें दौरा स्थगित करना पड़ा। हालांकि उन्होंने भविष्य में नैनीताल का दौरा करने की इच्छा जाहिर की है।

Advertisement
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.