निर्भया केस: फैसला सुरक्षित दोषी विनय की दया याचिका खारिज होने के खिलाफ याचिका पर

2012 दिल्ली गैंग रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दोषी विनय कुमार शर्मा की दया याचिका को खारिज किए जाने के मुद्दे पर कल दोपहर 2 बजे तक लिए फैसला सुरक्षित रख लिया है। उधर, उच्चतम न्यायालय निर्भया मामले के दोषियों को अलग-अलग फांसी देने के अनुरोध वाली केन्द्र की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया मामले के दोषियों से कहा कि वे अलग-अलग फांसी देने की केन्द्र की याचिका पर शुक्रवार तक जवाब दाखिर करें। कोर्ट ने दोषी पवन गुप्ता के मामले में वरिष्ठ वकील अंजना प्रकाश को न्याय मित्र नियुक्त किया।

बता दें कि निर्भया के माता-पिता द्वारा एक याचिका दायर की गई थी, जिसमें चारों दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी करने की मांग की गई है। मंगलवार को अदालत में इसपर सुनवाई हुई। निर्भया की मां ने कोर्ट में कहा कि मेरे अधिकार का क्या हुआ? मैं हाथ जोड़कर खड़ी हूं, कृप्या दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी किया जाए। मैं भी इंसान हूं। इस केस के सात साल से अधिक हो गए हैं। यह बोलकर वह फूट-फूटकर रोने लगीं।

निर्भया केस में सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई थी। इसके बाद दया याचिका और क्यूरेटिव पेटिशन के कारण से दो बार फांसी की तारीख टालनी पड़ी है। कोर्ट ने फिलहाल अनिश्चितकालीन के लिए दोषियों की फांसी की तारीख टाल दी है। निर्भया की मां रोते हुए कोर्ट से बाहर निकल गई। निकलते हुए उन्होंने कहा कि मैं अब भरोसा और विश्वास खोती जा रही हूं। कोर्ट को यह जरूर समझना होगा कि दोषी देरी करने के लिए लगातार हथकंडे अपना रहे हैं। निर्भया की मां ने कहा कि मैं अपनी बेटी के लिए न्याय पाने यहां से वहां भटक रही हूं। दोषी सजा टालने के लिए हथकंडे अपना रहे हैं। मैं यह नहीं समझ पा रहीं हूं कि कोर्ट इस बात को क्यों नहीं समझ पा रहा है।

 

Advertisement
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.