जरूर करें ये काम शनिदेव की कृपा पाने के लिए, व्यापार में होगी दिन दोगुनी रात चौगुनी बरकत

हिन्दू धर्म में शनिवार का दिन भगवान शनिदेव को समर्पित होता है। 9 ग्रहों में शनि ही एक मात्र ऐसा ग्रह है, जिसे सबसे क्रूर ग्रह माना जाता है। शनि की साढ़े साती या शनि की ढैया का नाम सुनकर अच्छे-भले जातकों पर भी प्रतिकूल मनोवैज्ञानिक प्रभाव पड़ता है। यह बात बहुत कम लोग जानते होंगे कि शनि ग्रह ईमानदार लोगों के लिए यश, धन, पद और सम्मान का ग्रह है। शनि संतुलन एवं न्याय के ग्रह हैं। शनि अर्थ, धर्म, कर्म और न्याय का प्रतीक हैं।

शनि ही धन-संपत्ति, वैभव और मोक्ष भी देते हैं। कहते हैं शनि देव पापी व्यक्तियों के लिए अत्यंत दुखदायक हैं। शनि की दशा आने पर जीवन में कई उतार-चढ़ाव आते हैं, जिससे जीवन पूरी तरह से डगमगा सकता है परंतु शनि कुछ लोगों के अत्यंत शुभ और श्रेष्ट फल देता है। कुछ खास उपाय किए करें तो शनि आप पर मेहरबान होकर आपको धनी भी बना सकता है।

शनिदेव कृपा उन जातको पर बनी रहती है जो लोग जेष्ठ माह में धूप से बचने के लिए काले छातों का दान करते हैं शनिदेव उन पर अपनी छत्र छाया बनाए रखते हैं। जो लोग कुत्तों की सेवा करते हैं अथवा कुत्तों को भोजन देते हैं और उन्हें सताते नहीं हैं शनिदेव उन्हें कष्टों से मुक्ति देते है।

शनिदेव उन लोगों को हमेशा भला करते हैं जो लोग अपने हाथ-पांव के नाखून निरंतर अंतराल पर काटते हैं व नाखुनों में मैल नहीं जमने देते। वे लोग जो लोग पौष माह में गरीबों को काले चने, काले तिल, उड़द, काले कपड़े आदि का नि:स्वार्थ दान करते हैं शनि उनसे प्रसन्न रहते हैं।

जो जातक रोजाना स्नान कर स्वयं को साफ व पवित्र रखते हैं शनिदेव उन्हें कभी कष्ट नहीं देते। जो लोग सफाई कर्मियों को सम्मान व आर्थिक अनुदान देते हैं शनिदेव उनको धन प्रदान करते हैं। शनिदेव उस पर कृपा करते हैं जो लोग मेहनतकश मजदूरों का हक नहीं मारते है।

जो लोग नेत्रहीनों को राह दिखाकर उनका मार्ग प्रशस्त करते हैं शनिदेव उनके लिए उन्नति के मार्ग खोलते हैं। शनि उनके भण्डार भरते हैं जो लोग शनिवार का उपवास रखकर अपने भाग का भोजन गरीबों को दान करते हैं। जो लोग मछली का सेवन नहीं करते तथा मछलियों को दाना डालते हैं शनिदेव उनसे सदैव मेहरबान रहते हैं।

जो लोग वृद्ध स्त्रियों को माता समान सम्मान देते हैं शनिदेव उनकी सहयता हेतु तत्पर रहते हैं। जो लोग पीपल व बरगद का नियमित पूजन करते हैं निश्चित ही शनिदेव उनसे प्रसन्न रहते हैं। जो लोग नियमित शिवलिंग का पूजन करते हैं शनिदेव उनका सदैव ध्यान रखते हैं।

जो लोग पितृ श्राद्ध कर कौए को भोजन देते हैं शनि खुश होकर उनके कष्ट हरते हैं। जो लोग धर्म मार्ग से लक्ष्मी अर्जित करते हैं शनि उन्हें अटूट लक्ष्मी का वर देते हैं। शनिदेव उनका भी भंडार भरते हैं जो असहाय वृद्धों को आर्थिक अनुदान देते हैं। यही नहीं जो लोग हनुमान जी की पूजा करते हैं शनिदेव उनके रक्षक बन जाते हैं। इसके अलावा जो लोग विकलांगों की सहयता करते हैं शनि उनका सदैव कल्याण करते हैं।

शनिदेव उनसे प्रसन्न रहते हैं जो लोग शराब व मदपान से दूर रहते हैं। जो लोग शाकाहार अपनाते हैं शनि उनका कुटुंब सहित कल्याण करते हैं। जो लोग सातमुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं शनि उनके भाग्य खोल देते हैं। यही नहीं जो लोग ब्याजखोरी से दूर रहते हैं शनि उनकी सैदेव सहयता करते हैं। जो लोग कोढ़ियों की सेवा करते हैं शनि उनके सभी कष्ट हर लेते हैं।

Advertisement
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.