इस साल हरिद्वार में गंगा दशहरा और सोमवती अमावस्या के दिन ही नहीं बल्कि होंगे 40 गंगा स्नान

वर्ष 2020 में धर्मनगरी में मां गंगा के तट पर 40 स्नान होंगे। हालांकि कुछ स्नान इनमें हल्के भी रहेंगे, लेकिन वैशाख, गंगा दशहरा से लेकर सोमवती अमावस्या पर भारी भीड़ उमड़ने की उम्मीद है।

इस वर्ष 37 गंगा स्नान हरिद्वार में पड़ रहे है, जबकि तीन स्नान चंद्र और सूर्य ग्रहण के कारण पड़ रहे हैं।  5 जून को होने वाले चंद्र ग्रहण और 21 जून को होने वाले सूर्य ग्रहण में दो स्नान पड़ रहे हैं।

05 जून को पूर्णिमा और 21 जून को पहले ही आषाढ़ अमावस्या का स्नान है। साल 2020 का पहला स्नान 11 जनवरी को होगा। 10 जनवरी की रात को ग्रहण समाप्त होने के बाद अगली सुबह पहला स्नान धर्मनगरी में होगा।

हालांकि इस स्नान में ठंड अधिक होने के कारण भीड़ कम ही रहेगी। जनवरी का सबसे बड़ा स्नान 15 और 24 जनवरी को होगा। 15 जनवरी को मकर संक्रांति और 24 जनवरी को मौनी अमावस्या का स्नान होगा।

कब होंगे स्नान- 
-15 जनवरी को मकर संक्रांति का स्नान
-24 जनवरी को मौनी अमावस्या,
-29 जनवरी को बसंत पंचमी
-9 फरवरी को माघ पूर्णिमा का स्नान
-21 फरवरी को महाशिवरात्रि,
-9 मार्च होलिका दहन और स्नान
-23 मार्च को चैत्र की सोमवती अमावस्या
-2 अप्रैल को रामनवमी
-8 अप्रैल को पूर्णिमा स्नान,
-22 और 23 अप्रैल को वैशाख अमास्वस्या स्नान
-26 अप्रैल को अक्षृय तृतीया स्नान
-29 अप्रैल को गंगा सप्तमी स्नान
-7 मई को बुद्ध पूर्णिमा
-22 मई  शुक्रवार वट सावित्री व्रत अमावस्या
-1 जून गंगा दशहरा
-5 और 6 जून पूर्णिमा स्नान, और चंद्रग्रहण के बाद स्नान
-21 जून आषाढ़ अमावस्या
-5 जुलाई गुरु पूर्णिमा
-20 जुलाई सोमवती अमावस्या
-25 जुलाई को नाग पंचमी
-3 अगस्त रक्षाबंधन और पूर्णिमा
-12 अगस्त को पूर्णिमा
-18 और 19 अगस्त को अमावस्या
-1 और 2 सितंबर को पूर्णिमा
-17 सितंबर को अमावस्या स्नान और विश्वकर्मा पूजा
-1 अक्तूबर को पूर्णिमा
-16 को श्राद्ध अमावस्या
-12 नवंबर को धनतेरस
-14 नवंबर को दीपावली और अमावस्या
-25 नवंबर को तुलसी विवाह
-29 नवंबर को पूर्णिमा
-14 दिसंबर को अमावस्या
-29 और 30दिसंबर को पूर्णिमा

ये है ग्रहण के स्नान- 
10 जनवरी को साल का पहला चंद्र ग्रहण होगा। जो रात 10 बजकर 37 मिनट से उसी रात 2 बजकर 42 मिनट तक रहेगा। 5 जून को  दोबारा चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई देगा। जो रात 11 बजकर 15 मिनट से  उसी रात 2 बजकर 34 मिनट तक।  21 जून को साल का पहला सूर्य 9 बजकर 15 मिनट से दोपहर 15 बजकर 03 मिनट तक होगा। साल का अंतिम चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को होगा। जो दोपहर को 1 बजे से शाम पांच बजकर 23 मिनट तक रहेगा।

-इन ग्रहण का नहीं होगा असर 
5 जुलाई को पड़ने वाले चंद्र ग्रहण का भारत में कोई असर नहीं दिखाई देगा। यह चंद्र ग्रहण अमेरिका, दक्षिण पूर्व यूरोप और अफ्रीका में दिखाई देगा। वहीं साल 2020 के अंत 14 दिसंबर को पड़ने वाले सूर्यग्रहण का भारत में कोई असर नहीं होगा।

Advertisement
Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.