साल 2019 में कोहली ने बनाए ये कमाल के ‘विराट’ रिकॉर्ड..

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को अगर टीम इंडिया की रन मशीन कहा जाए तो किसी को भी हैरानी नहीं होगी। टीम इंडिया के सफलतम टेस्ट कप्तान का बल्ला इस साल जमकर बोला। इस साल उनके बल्ले से क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में 2455 रन निकले जो विश्व के किसी अन्य बल्लेबाज से सबसे ज्यादा है। उनके बल्ले से सात शतक भी निकले। वनडे क्रिकेट के बड़े रिकॉर्ड में वे इस साल दूसरे स्थान पर रहे। साथ ही उन्होंने इस साल का समापन टेस्ट और वनडे के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के रूप में किया। आइए नजर डालते हैं विराट कोहली के द्वारा बनाए गए उन खास रिकॉर्ड पर जो उन्होंने इस साल बनाए- 

विराट कोहली ने 2019 विश्व कप में लगातार पांच पारियों में अर्द्धशतक बनाया। वह विश्व कप के इतिहास में पांच लगातार फिफ्टी प्लस स्कोर बनाने वाले पहले कप्तान बने। इसके अलावा वह स्टीव स्मिथ के बाद पुरुष विश्व कप में लगातार 50+ स्कोर बनाने वाले सिर्फ 2 खिलाड़ी बने।

कोहली ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतने वाले पहले एशियाई कप्तान बने। उनकी कप्तानी में भारत ने 4 मैचों की टेस्ट सीरीज़ को 2-1 के अंतर से अपने नाम किया।

विराट वेस्टइंडीज में वनडे क्रिकेट में चार शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। इस प्रकार वह कैरेबियाई द्वीप समूह में वनडे शतकों की हैट्रिक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने।

विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड मैदान पर पांच शतक बनाए हैं। वे ऑस्ट्रेलिया के किसी एक मैदान पर पांच शतक लगाने वाले सिर्फ दूसरे गैर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हैं। उनके अलावा इंग्लैंड के सर जैस हॉब्स ने एमसीजी पर पांच शतक लगाए हैं।

रांची वनडे में शतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय मैचों में पीछा करते हुए कोहली का छठां शतक था। यह किसी एक टीम के खिलाफ लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे अधिक है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सचिन तेंदुलकर और श्रीलंका के खिलाफ विराट कोहली ने लक्ष्य का पीछा करते हुए एकदिवसीय मुकाबलों में पांच शतक लगाए हैं।

इस साल कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा डबल सेंचुरी बनाने का रिकॉर्ड बनाया। इस मामले में उन्होंने सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग को पीछे किया।

विराट कोहली ने पॉर्ट ऑफ स्पेन में वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में नौंवी सेंचुरी जड़ी। यह किसी एक देश के खिलाफ सबसे ज्यादा सेंचुरी के रिकॉर्ड की बराबरी है। सचिन तेंदुलकर भी यह कारनामा कर चुके हैं।

ऑस्ट्रेलिया के मैदानों में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले कोहली दूसरे गैर ऑस्ट्रेलियाई है। उन्होंने कुल नौ शतक लगाए हैं। यह रिकॉर्ड उनसे पहले इंग्लैंड के जैक हॉब्स के नाम है।

बांग्लादेश के खिलाफ विराट कोहली ने कोलकाता में दसवीं सेंचुरी जड़ी जो कि एक भारतीय कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा है। उन्होंने इस मामले में महान सुनील गावस्कर को पीछे छोड़ा।

विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सभी फॉर्मेट में 15 शतक लगाए हैं। किसी एक टीम के खिलाफ उनसे ज्यादा शतक सिर्फ सचिन तेंदुलकर और सर डॉन ब्रैडमेन ने बनाए हैं।

विराट कोहली इस समय भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बन गए हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 33 मैचों में जीत दर्ज की है। उनके बाद एमएस धोनी का नंबर आता है जिनकी कप्तानी में भारत ने 27 टेस्ट मैच जीते हैं।

विराट कोहली के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में एक कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा शतक 41 शतक दर्ज हैं। उन्होंने इस मामले में ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग की बराबरी की।

विराट कोहली के नाम कुल मिलाकर इंटरनेशनल क्रिकेट में 70 शतक दर्ज हैं। वो इस मामले में तीसरे नंबर पर हैं। उनसे आगे सिर्फ रिकी पोंटिंग(71) और सचिन तेंदुलकर(100) हैं।

विराट कोहली ने वनडे क्रिकेट में पहली बार 60 से ज्यादा की औसत पाई। यह कारनामा उन्होंने मार्च 2019 में किया।

विराट कोहली ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर वनडे क्रिकेट में एक कप्तान के रूप में शतक लगाने वाले पहले भारतीय कप्तान हैं।

विराट कोहली डे-नाइट टेस्ट में शतक लगाने वाले पहले भारतीय हैं।

विराट कोहली इस साल टेस्ट क्रिकेट में 250+ स्कोर बनाने वाले पहले भारतीय कप्तान हैं। उन्होंने साउथ अफ्रीका के खिलाफ पुणे में यह कारनामा किया था।

विराट कोहली घरेलू मैदान पर 5000 रन पूरे करने वाले पहले भारतीय कप्तान हैं। उन्होंने यह कारनामा 84 पारियों में किया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.