बीएसएफ ने भारत-पाक सीमा को पार कर आए युवक को किया गिरफ्तार

जयपुर: बीएसएफ ने भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार कर आए युवक को गिरफ्तार किया। तारबंदी को पार करके भारत आए किशोर ने पूछताछ में कई राज उगले हैं। पूछताछ में युवक ने बताया कि पाकिस्तान में उसके मामा ने उसे भारतीय सीमा में घुसकर सेना के कैंप व अन्य खुफिया जानकारी जुटाने की सलाह दी थी। उसने बताया है कि वह अमरकोट से ट्रेन में बैठकर खोखरापार आया, वहां से वह ट्रेन से उतरा और तारबंदी के नीचे से सोमवार सुबह नौ से दस बजे की बीच भारतीय सीमा में घुसा। इस बात से बीएसएफ को आशंका है कि युवक को आईएसआई के द्वारा भेजा गया है।

आशंका है कि आईएसआई द्वारा युवक को खुफिया जानकारी जुटाने के लिए तारबंदी पार करवाया गया है, क्योंकि युवक ने बताया है कि वह अमरकोट इलाके का रहने वाला है। जेआईसी के लिए गडरारोड थाना पुलिस बुधवार उसे बाड़मेर लेकर आएगी, जहां संयुक्त सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ करेंगी। गडरारोड थानाधिकारी अमरसिंह ने बताया कि युवक का नाम भागचंद पुत्र लक्ष्मण दास कोली (16) है। वह पाकिस्तान के रहीमयार खां का रहने वाला है। युवक ने बॉर्डर पिलर संख्या 815-816 के बीच से भारत घुस आया। जहां बीएसएफ बटालियन 151 ने इसे पकड़ लिया। मंगलवार को बीएसएफ ने युवक को गडरारोड थाना पुलिस को सौंप दिया।

जिसके बाद पूछताछ ने युवक ने कबूला कि वह पाकिस्तानी नागरिक है और सीमा पार कर भारत में घुसा है। तलाशी के दौरान उसके पास से पाकिस्तानी मुद्रा के 10 और 20 रुपये का एक-एक नोट बरामद हुआ है। इसके अलावा युवक के पास से किसी भी प्रकार के दस्तावेज बरामद नहीं हुए है। ग्रामीणों ने बताया कि बच्चों ने खेलने के दौरान सीमा पर कर आए पाकिस्तानी युवक को देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया। जिसके बाद ग्रामीणो ने उसे पकड़ कर बीएसएफ को सौंप दिया। दूसरी ओर बीएसएफ ने दावा किया है कि उन्होंने युवक को देख आवाज लगाई और उसने रुकने के लिए कहा, लेकिन वह रुका नहीं। इसके बाद उसका पीछा कर अकली गांव के पास उसे दबोच लिया गया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।