69.7 करोड़ डॉलर की गिरावट विदेशी मुद्रा भंडार में

देश का विदेशी मुद्रा भंडार दो अगस्त को समाप्त सप्ताह में 69.72 करोड़ डॉलर घटकर 428.952 अरब डॉलर रह गया। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति में कमी के चलते यह गिरावट दर्ज की गयी है।

इससे पहले के सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 72.71 करोड़ डॉलर घटकर 429.649 अरब डॉलर रह गया था। विदेशी मुद्रा भंडार 19 जुलाई, 2019 को समाप्त सप्ताह में 430.376 अरब डॉलर की सर्वकालिक ऊंचाई पर पहुंच गया था। केंद्रीय बैंक ने कहा कि कुल विदेशी मुद्रा भंडार का अहम भाग विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां समीक्षावधि में 63.3 करोड़ डॉलर घटकर 398.724 अरब डॉलर रह गयीं।

आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान देश का स्वर्ण भंडार 16.64 करोड़ डॉलर घटकर 25.163 अरब डॉलर रह गया। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से मिलने वाला विशेष आहरण अधिकार इस दौरान 95 लाख डॉलर घटकर 1.434 अरब डॉलर रह गया। वहीं कोष के पास देश का भंडार 11.17 करोड़ डॉलर बढ़कर 3.629 अरब डॉलर हो गया।

वहीं दूसरी ओर, पूंजी बाजार के भागीदारों तथा विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की और निवेशकों का मनोबल बढ़ाने के लिये उनके सामने कुछ मांगें रखीं। सूत्रों ने कहा इन मांगों में एफपीआई पर कर-अधिभार में वृद्धि वापस लिए जाने , लाभांश वितरण कर की समीक्षा करने तथा दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर (एलटीसीजी) में कमी करने जैसी कई मांगें में शामिल हैं।

सूत्रों ने कहा कि वित्त मंत्री ने उन्हें ध्यान से सुना लेकिन इन विषयों पर कोई ठोस वादा करने से अपने आप को रोका। वित्त मंत्री निवेश बढ़ाने तथा अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के उपाय तय करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिनिधियों से चर्चा कर रही है। यह बैठक इसी सिलसिले में थी।

 

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।