योगी आदित्यनाथ की चाहत, अयोध्या में जल्द बने राम मंदिर

अयोध्या (उप्र)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि उनकी दिली इच्छा है कि अयोध्या में जल्द से जल्द भगवान राम का भव्य मंदिर बने। योगी ने अयोध्या शोध संस्थान संग्रहालय में लकड़ी से निर्मित भगवान राम की सात फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करने के बाद कहा, पूरे विश्व की अपेक्षाओं के अनुरूप मैं चाहता हूं कि अयोध्या में जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण हो। भगवान राम की यह मूर्ति कर्नाटक से मंगवाई गई है और यह राम के 5 स्वरूपों में से एक का प्रतिनिधित्व करती है।
प्रभु श्री राम की पावन भूमि पर श्री राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष पूज्य महन्त श्री नृत्य गोपाल दास जी महाराज के 81वें जन्मोत्सव समारोह में भाग लिया। मेरा मानना है,”देश सुरक्षित है तो धर्म सुरक्षित है” और दुनिया भर की अपेक्षाओं के अनुसार भगवान राम का भव्य मंदिर बने,यही कामना है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हर कोई चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने भगवान राम से दूरी बनाए रखी लेकिन हमने अयोध्या के जरिए दुनिया में अपनी पहचान बनाई। हर कोई चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर बने। योगी ने कहा कि भारत के संविधान की मूल प्रति पर भगवान राम की तस्वीर बनी है। योगी ने विवादित स्थल पर बने अस्थाई राम मंदिर में पूजा अर्चना की। उन्होंने राम जन्मभूमि न्यास के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास के जन्मदिन समारोह के उद्घाटन कार्यक्रम में भी शिरकत की।
हाल में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बारे में योगी ने कहा कि देश की जनता ने नकारात्मक राजनीति को नकार दिया है। अयोध्या में कराए जा रहे विकास कार्यों के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या के लोगों की बेहतरी के लिए यहां अनेक विकास योजनाएं शुरू की गई हैं। अयोध्या भगवान राम की नगरी है और जब हमारी पार्टी सत्ता में आई तो जिले का नाम बदलकर अयोध्या किया गया और उसी के नाम पर नगर निगम की स्थापना भी की गई। योगी ने प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर में भी दर्शन किए और सरयू के किनारे राम की पैड़ी का निरीक्षण भी किया।

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह samayduniya7@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।